पौंग डैम में प्रवासी पक्षियों की मृत्यु का कारण एच5एन1 वायरस

Himachal News National

पौंग डैम में 5 जनवरी, 2021 तक लगभग 2736 प्रवासी पक्षियों की मृत्यु दर्ज

नार्थ गजट न्यूज। शिमला

पौंग डैम में प्रवासी पक्षियों की मृत्यु की वजह एच5एन1 वायरस से संक्रमित होना पाया गया है। वन विभाग के एक प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि एनआईएचएएसडी भोपाल को भेजे गए नमूनों के परीक्षण परिणामों के आधार पर पौंग डैम वन्यप्राणी अभयारण्य में प्रवासी पक्षियों की मृत्यु का कारण एच5एन1 एवियन इन्फ्लुएंजा वायरस पाया गया है।

उन्होंने कहा कि एवियन इन्फ्लुएंजाध्बर्ड फ्लू वायरस से होने वाली बीमारी है। यह पालतू मुर्गियों और जंगली पक्षियों को संक्रमित करती है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार द्वारा जारी एवियन इन्फ्लुएंजा की तैयारी, नियंत्रण और रोकथाम के लिए पशुपालन की कार्य योजना के अनुसार, त्वरित प्रक्रिया टीमों का गठन कर प्रोटोकाॅल के अनुसार मृत पक्षियों के संग्रह और सुरक्षित निपटान के लिए तैनात किया गया है। संक्रमित क्षेत्रों को कीटाणु रहित किया जा रहा है और स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पूरे आपरेशन की निगरानी डीएफओ वन्यप्राणी हमीरपुर द्वारा की जा रही है।

उन्होंने कहा कि 5 जनवरी, 2021 को पौंग बांध वन्यजीव अभयारण्य क्षेत्र में 336 प्रवासी पक्षियों की मृत्यु की सूचना प्राप्त हुई थी। पोंग डैम वन्यजीव अभयारण्य क्षेत्र में 5 जनवरी, 2021 तक लगभग 2736 प्रवासी पक्षियों की मृत्यु दर्ज की गई है।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश वन विभाग का वन्यजीव शाखा द्वारा इस प्रकोप को नियंत्रित करने के लिए सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं और स्थिति पर नियंत्रण रखने और सख्त निगरानी बनाए रखने के लिए फील्ड स्टाफ को निर्देशित किया गया है।