हिमाचल में दिसंबर माह में क्रियान्वित हो जाएगी खेल नीति : पठानिया


पहली मर्तबा खेल संघों, खिलाड़ियों के सुझावों को दी जाएगी तरजीह

ग्रामीण स्तर पर मूलभूत सुविधाएं तथा बेहतर प्रशिक्षण पर रहेगा विशेष फोक्स

राज्य के प्रत्येक विस क्षेत्र में बनेंगे दो-दो खेल स्टेडियम

नार्थ गजट न्यूज। धर्मशाला

राज्य में खेल नीति दिसंबर माह में तैयार हो जाएगी इसके निर्धारण में हिमाचल के उत्कृष्ट खिलाड़ियों तथा खेल संघों के पदाधिकारियों के सुझावों की तरजीह दी जाएगी ताकि हिमाचल में खेलों का स्तर बेहतर हो सके और खिलाड़ियों को देश तथा दुनिया में भी अपनी प्रतिभा दिखाने के अवसर मिल सकें।
यह उद्गार वन एवं युवा खेल सेवाएं मंत्री राकेश पठानिया ने धर्मशाला के मिनी सचिवालय में खेल नीति के संशोधित प्रारूप को लेकर खेल संघों के पदाधिकारियों एवं खिलाड़ियों के साथ आयोजित एक दिवसीय वर्कशॉप की अध्यक्षता करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि खेल नीति निर्धारण में खेल संघों तथा खिलाड़ियों से लिखित तौर पर प्राप्त सुझावों को शामिल किया जाएगा। राकेश पठाानिया ने कहा कि खेल नीति निर्धारण में खेलों के प्रति युवाओं में दिलचस्पी पैदा करने, ग्रामीण स्तर तक खेलों के लिए आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने, खिलाड़ियों के लिए बेहतर प्रशिक्षण की व्यवस्था, खिलाड़ियों के लिए प्रोत्साहन राशि इत्यादि पर फोक्स किया जाएगा। उन्होंने कहा कि खेल नीति का प्रारूप तैयार करने के लिए इसी माह विभिन्न खेल संघों के साथ शिमला, मंडी, हमीरपुर, उना, बिलासपुर, नुरपुर में आवश्यक बैठकें भी आयोजित की जाएंगी ताकि खेल नीति में हर पहलु का ध्यान रखा जा सके।

उन्होंने कहा कि राज्य के प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में चरणबद्व तरीके से दो-दो आउटडोर स्टेडियम निर्मित किए जाएंगे इन खेल परिसरों में खिलाड़ियों के लिए बेहतर खेल सुविधाएं भी प्रदान की जाएंगी ताकि ग्रामीण स्तर की प्रतिभाओं को निखारा जा सके। राकेश पठानिया ने कहा कि मनरेगा के तहत भी खेल मैदान निर्मित करने के लिए पहल की गई है तथा उना जिला के बंगाणा में मनरेगा के सहयोग से पहला स्टेडियम तैयार किया गया है।

उन्होंने कहा कि युवा सेवाएं खेल मंत्रालय द्वारा हिमाचल के लिए 15 फेबरिक स्टेडियम बनाने के लिए भी मंजूरी प्रदान की गई है इन खेल परिसरों में बास्केटबाल, वालीबाल, बैडमिंटन, जूडो, बाक्सिंग इत्यादि के लिए सुविधा प्रदान की जाएगी। खेल मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने युवा शक्ति को खेलों एवं सामाजिक सेवाओं से जोड़कर राष्ट्र निर्माण में भागीदार बनाया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में युवाओं को विभिन्न खेलों के लिए मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने की दिशा में कारगर कदम उठाए हैं जिसके चलते ही राष्ट्रीय तथा अंतराष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश के खिलाड़ियों का प्रदर्शन बेहतर हुआ है। इस अवसर पर खेल मंत्री ने खेलों में हिमाचल का नाम रोशन करने वाले खिलाड़ियों को भी सम्मानित किया जिसमें ओलंपियन विजय थापा, शूटर विजय कुमार, धावक सुमन रावत, रमेश पठानिया शामिल हैं।

इससे पहले युवा खेल सेवाएं विभाग के सचिव डा एसएस गुलेरिया ने मुख्यातिथि का स्वागत करते हु ए खेल नीति के प्रारूप के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की। इस अवसर पर विधायक विशाल नैहरिया राज्य भर से विभिन्न खेल संघों के पदाधिकारी, युवा खेल सेवाएं विभाग के अधिकारी तथा खिलाड़ियों से शिक्षा तथा ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारी भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *