मुख्यमंत्री की ऊना विधानसभा क्षेत्र के लिए 70 करोड़ रुपये की सौगात

कहा , ऊना में पी.जी.आई. के सेटेलाइट केन्द्र को स्थापित करने के लिए 450 करोड़,

550 करोड़ रुपये की लागत से इण्डियन आयल के डिपो का निर्माण भी जल्द

नार्थ गजट न्यूज। ऊना

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिला ऊना विधानसभा क्षेत्र के लिए लगभग 70 करोड़ रुपये की लागत की 45 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण किए और आधारशिला रखी।

जय राम ठाकुर ने ऊना में 22 विकासात्मक परियोजनाओं, जिनमें औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के परिसर में 1.90 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित पर्यटन व्यापार भवन, 2.43 करोड़ रुपये की लागत से बनगढ़ के आई.आर.बी. परिसर में निर्मित 12 टाईप-2 क्वाटर्ज, 2.57 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 12वीं गृह रक्षा वाहिनी भवन, 2.06 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित सतर्कता कार्यालय भवन, 2.40 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित पुलिस विभाग के 6 टाईप-2 कवाटर्ज, नाबार्ड के अंतर्गत 2.61 करोड़ रुपये की लागत से लोअर देहलान पंचायत में (लोअर देहलां से बडेहर, सुध्याना तालाब से बसदेहड़ा, सम्पर्क मार्ग से मुहल्ला चैधरियां और सम्पर्क मार्ग से मुहल्ला-महंतां तक) सड़कों को चैड़ा करने व सुधार कार्य, 51 लाख रुपये की लागत से बैरक ब्लाॅक का उद्घाटन, जिसमें में बैरक के आसपास की भीतरी डब्ल्यू.एस. व एस.आई. बाउंड्री दिवार, शस्त्र भण्डार और 3 चैक पोस्ट, पी.एल. इंटरलाॅकिंग टाइलें बाहरी डब्ल्यू.एस. व एस.आई. एवं 50 यूजर के लिए सेप्टिक टैंक का निर्माण शामिल है, का उद्घाटन किया।

मुख्यमंत्री ने देहलां में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के निकट 38 लाख रुपये की लागत से ट्यूबवैल, जलग्रां में 37 लाख रुपये की लागत से ट्यूबवैल, कुठार कलां में बरवाल मुहल्ला के निकट 54 लाख रुपये की लागत से ट्यूबवैल, जनकोर में गौसदन के निकट 49 लाख रुपये की लागत से ट्यूबवैल, देहलां में वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के निकट 48 लाख रुपये की लागत से ट्यूबवैल, उदयपुर में पंचायत घर के निकट 47 लाख रुपये की लागत से ट्यूबवैल, मलाहत में 29 लाख रुपये की लागत से ट्यूबवैल, 94 लाख रुपये की लागत से गांव मेहतपुर व जखेड़ा के लिए जलापूर्ति योजना, जिला अस्पताल ऊना के लिए 70 लाख रुपये की लागत से जलापूर्ति योजना, तहसील ऊना में गांव कुठार खुर्द के लिए 41 लाख रुपये की लागत से जलापूर्ति योजना, तहसील ऊना के बारसड़ा गांव के लिए 36 लाख रुपये की लागत से जलापूर्ति योजना, जट्टपुर क्षेत्र में संतोषगढ़ कस्बे के लिए 1.16 करोड़ रुपये की लागत से जलापूर्ति योजना, 75 लाख रुपये की लागत से देहलां (ब्रह्मानन्द) जलापूर्ति योजना का संवर्धन, देहलां शोकरा में 54 लाख रुपये की लागत से ट्यूबवैल, जलग्रां गांव के लिए 52 लाख रुपये की लागत से जलापूर्ति योजना और वन मण्डल कार्यालय ऊना में 24 लाख रुपये की लागत से निर्मित रिकाॅर्ड रूम जनता को समर्पित किए।

जय राम ठाकुर ने ऊना में 23 परियोजनाएं, जिनमें 8.80 करोड़ रुपये की लागत से राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (छात्र) ऊना का भवन, गांव झुडोवाल में 89 लाख रुपये की लागत से सामुदायिक भवन, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बेहदला में 53 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले कमरों, देहलां के रायपुर सहरां में 79 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले सहायक अभियन्ता कार्यालय एवं आवासीय भवन, बसदेहरा में 4.21 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले 30 बिस्तरों वाले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, गांव झुडोवाल में 46 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाली उठाऊ सिंचाई योजना, गांव रामपुर के लिए 50 लाख रुपये की लागत से होने वाली उठाऊ सिंचाई योजना, गांव बदेहर (रामपुर तलाई क्षेत्र) में 68 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले ट्यूबवैल, बडेहर में (मोहल्ला चिलांवाला) 71 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले ट्यूबवैल, रामपुर बेला में 49 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले ट्यूबवैल, 70 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाली मलूकपुर माजरा जलापूर्ति योजना और ऊना विधानसभा क्षेत्र में छूटे हुए परिवारों के लिए 5.73 करोड़ रुपये की लागत से मौजूदा योजनाओं के तहत क्रियाशील पानी के कनैक्शन प्रदान करने के लिए आधारशिला रखी।

मुख्यमंत्री ने राजकीय महाविद्यालय ऊना में 11.93 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले नये शैक्षणिक खण्ड के निर्माण, राजकीय पशु चिकित्सालय बसदेहड़ा में 63 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले भवन, 62 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले राजकीय पशु चिकित्सालय संतोषगढ़ के भवन, मेहतपुर में 74 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले हि.प्र. राज्य औद्योगिक विकास निगम कार्यालय एवं निरीक्षण हट, 4.68 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले खण्ड विकास कार्यालय भवन ऊना, जिला आयुर्वेदिक अस्पताल के निकट 96 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाली पार्किंग, नगर निगम ऊना में जिला परिषद् कार्यालय के निकट वार्ड नं. 3 में 1.03 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली वेंडिंग मार्किट जोन, 20 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाली वन चैक पोस्ट मेहतपुर, वन मण्डल ऊना में 15 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले टाईप-2 क्वाटर्ज तथा उप-निदेशक, पशुपालन कार्यालय ऊना में 58 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले सम्मेलन कक्ष के निर्माण की आधारशिला रखी।

मुख्यमंत्री ने शिमला से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान मुश्किल समय में जिला ऊना ने अहम भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि बाहरी राज्यों में फंसे लगभग 2.50 लाख हिमाचलवासियों को प्रदेश वापिस लाया गया, जिनमें से अधिकांश को रेलगाड़ियों से ऊना तक पहुंचाया गया। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन ने वापिस लाए गए लोगों को घर भेजने से पहले उनकी उचित जांच सुनिश्चित करने में अहम भूमिका निभाई है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि ऊना में पी.जी.आई. के सेटेलाइट केन्द्र को स्थापित करने के लिए 450 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि 550 करोड़ रुपये की लागत से इण्डियन आॅयल के डिपो का निर्माण भी जल्द किया जाएगा। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा आज रखी गई आधारशिलाओं से संबद्ध निर्माण कार्य निर्धारित समय में पूरे किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी अभी तक खत्म नहीं हुई है, इसलिए हम सबको सावधान एवं सतर्क रहने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हालांकि प्रदेश में कोविड के मामलों में तेजी से वृद्धि हुई है परन्तु अभी भी स्थिति नियंत्रण में है। उन्होंने लोगों से परस्पर दूरी बनाए रखने व घर से बाहर निकलते समय फेस मास्क का उपयोग करने का आग्रह किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने विवाह व अन्य सामाजिक आयोजनों के दौरान लोगों की अधिकतम संख्या 100 निर्धारित की है। उन्होंने कहा कि सरकार ने यह भी निर्णय लिया है कि विवाह और अन्य सामाजिक कार्यक्रमों में कार्यरत केटरिंग स्टाफ के लिए कोविड परीक्षण अनिवार्य होगा। उन्होंने कहा कि यह सब कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के उद्देश्य से किया गया है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार इस साल 27 दिसंबर को अपने कार्यकाल के तीन वर्ष पूरे करने जा रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए इस उपलक्ष्य पर शिमला में एक कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस दौरान राज्य के अधिकतम लोगों तक पहुंचने का प्रयास किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा को बिहार में एनडीए की शानदार जीत के लिए बधाई दी और कहा कि नीतीश कुमार को लगातार चैथी बार मुख्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई है। उन्होंने कहा कि इसका श्रेय केंद्र सरकार की विकासोन्मुखी नीतियों को जाता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *