हिमाचल के साथ भेदभाव कर रही है यूपीए सरकार : राजनाथ

शिमला, 11 अगस्त । 

 भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और वरिष्ठ भाजपा नेता राजनाथ सिंह ने कहा कि हिमाचल सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण राज्य है, लेकिन यूपीए सरकार द्वारा प्रदेश की लगातार उपेक्षा की जा रही है। उन्होंने हिमाचल को विशेष प्रोत्साहन देने की सिफारिश की और कहा कि यह केन्द्र का दायित्व है कि वह हिमाचल के साथ न्याय करे। उन्होंने कहा कि हिमाचल और गुजरात राज्यों में भाजपा सत्तासीन होते ही केन्द्र में सत्ता परिवर्तन निश्चित है। राजनाथ सिंह आज हमीरपुर में ‘मिशन रिपीट-2012’ के समर्थन में प्रदेश भाजपा युवा मोर्चा द्वारा आयोजित ऐतिहासिक युवा संकल्प रैली को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल के नेतृत्व में सतारूढ़ भाजपा सरकार ने न केवल अपने घोषणापत्र में किए गए सभी वायदों को पूरा किया है बल्कि उससे बढक़र कार्य किए हैं।

सिंह ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में राष्ट्रीय विकास दर 8.4 प्रतिशत तक पहुंच गई थी, जबकि यूपीए के शासनकाल में विकास दर 6 प्रतिशत से ऊपर नहीं बढ़ पाई है। भ्रष्टाचार आज चरम सीमा पर है और केन्द्र इस बारे बिल्कुल गंभीर नहीं है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि एनडीए के कार्यकाल में लोगों को मिलने वाले सस्ते एवं खुला राशन पर यूपीए सरकार ने कैंची चला दी। प्रदेश से केंद्र सरकार में दो मंत्री होते हुए उन्होंने राज्य के लिए कुछ नहीं किया। 10 वर्षों के लिए स्वीकृत विशेष औद्योगिक पैकेज को घटा दिया और बीबीएबी परियोजनाओं में जायज हिस्सा नहीं दिया। धूमल ने कहा कि केन्द्र ने प्रदेश द्वारा ऋण लेने की सीमा कम करके 1600 करोड़ रुपये कर दी है जिससे विकास प्रक्रिया प्रभावित हुई है। धूमल ने कहा कि प्रदेश में 15 अगस्त से सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अन्तर्गत उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से मिलने वाले सस्ते राशन के साथ उपभोक्ता को अब एक कैरी बैग भी दिया जाएगा ताकि लोगों को राशन ले जाने में सुविधा हो।

इस अवसर पर भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व सांसद शान्ता कुमार भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री जगत प्रकाश नड्डा, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती राष्ट्रीय युवा मोर्चा के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर मौजूद रहे।

 

CategoriesUncategorized

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *