कांग्रेस शहर में कराए विकास कार्यों का जबाव दे : माकपा

शिमला, 02 मई।

नगर निगम शिमला के चुनाव नजदीक आते ही सियासी दलों की सरगर्मियां तेज हो गई हैं। मेयर और डिप्टी मेयर के लिए पहली बार हो रहे सीधे चुनावों में अपने प्रत्याशियों का ऐलान करने के बाद माकपा ने कांग्रेस पार्टी पर जुबानी जंग तेज कर दी है।
माकपा के राज्य सचिव राकेश सिंघा ने निगम चुनावों में एकछत्र राज करने वाली कांग्रेस पार्टी पर शिमला शहर की समस्याओं को हल करने में नाकाम रहने का आरोप लगाया है। सिंघा ने बुधवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि निगम में वर्ष 1986 से लेकर अभी तक कांग्रेस का वर्चस्व रहा है। लेकिन शहर में जनसाधारण की सुविधा के लिए कोई योजना नहीं बन पाई है। पानी, स्ट्रीट लाइट, सफाई व एम्बूलैंस जैसे मुद्दों पर शहर वासियों को राहत नहीं मिली है। 30 साल तक राज करने वाली कांग्रेस जनता के प्रति अपनी जवाबदेही से नहीं बच सकती है।

उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि निगम चुनावों से पहले भाजपा से ज्यादा कांग्रेस को जनता के बीच जवाब देना होगा। भाजपा को भी आड़ हाथों लेते हुए सिंघा ने कहा कि सरकार की नवदारवाद नीतियों के चलते विकास चंद लोगों तक हो सका है। विकास की आम आदमी तक पहुंच की गुजारिश कम रह गई है।

सिंघा ने कहा कि नगर निगम चुनावों को माकपा पूरी गंभीरता से लेगी। पार्टी ने मेयर के लिए संजय चौहान और डिप्टी मेयर के लिए टिकेंद्र पंवर को उम्मीदवार बनाया है। 13 मई को पार्टी चुनावी घोषणा पत्र जारी करेगी। निगम के सभी 25 वार्डों पर प्रत्याशी खड़े किए जाएंगे। पार्टी 16 वार्डों पर अपने प्रत्याशियों को ऐलान कर चुकी है। उन्होंने कहा कि चुनावों में माकपा गैरभाजपा-कांग्रेस दलों से समर्थन का आग्रह करेगी।

रिश्वतखोर जेई को विजिलेंस ने दबोचा

शिमला, 01 मई । 

हिमाचल प्रदेश राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने मंगलवार को हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड लिमिटेड के चौपाल में तैनात कनिष्ठ अभियंता धनी राम बरागटा को 25 हजार की रिश्वत लेने के आरोप में गिरतार किया। एक निजी कंपनी भारती एयरटेल के एक प्रतिनिधि की शिकायत के आधार पर उन्हें पकड़ा गया है। ब्यूरों के शिमला स्थित पुलिस थाना में आरोपी कनिष्ठ अभियंता के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार भारती ऐयरटेल के एक प्रतिनिधि ने ब्यूरो में शिकायत की थी कि चौपाल में तैनात कनिष्ठ अभियंता उनसे टावर के लिए बिजली के कुनैक्शन देने के लिए साईट का निरिक्षण करने तथा प्राक्लन तैयार करने के ऐवज में रिश्वत मांग रहा है। रिश्वत के पैसों को कनिष्ठ अभियंता ने अपने बेटे के बैंक ऐकाउंट में जमा करने को कहा था।

डीआईजी राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो हिमांशू मिश्रा ने कहा कि ब्यूरो की विशेष टीम ने आज धनी राम बरागटा को उनके चौपाल कार्यांलय से गिरतार किया है। उनके खिलाफ ब्यूरो जांच कर रहा है। 

 

 

अन्नाडेल मैदान को लेकर अगली सुनवाई 28 जून को

शिमला, 01 मई । 

हिमाचल सरकार और सेना के बीच अनाडेल मुद्दे पर मंडलायुक्त शिमला के पास मंगलवार को सुनवाई हुई। इस पर प्रदेश सरकार व सेना का पक्ष सुनने के बाद मंडलायुक्त ने सेना को जवाब देने के लिए 28 जून तक का समय दिया है।
उल्लेखनीय है कि हिमाचल प्रदेश में अन्नाडेल मैदान को लेकर सेना व सरकार आमने सामने खड़ी हो गई थी। सेना की लीज को समाप्त हुए कई साल हो चुके हैं। सरकार इस मैदान को वापिस देने की मांग कर रही है।

मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल इस मुद्दे को कई बार केंद्र से उठा चुके हैं। साथ ही जिला शिमला क्रिकेट संघ ने भी इस मैदान को वापिस लेने के लिए हस्ताक्षर अभियान भी चलाया था। वहीं दूसरी ओर सीपीआईएम तथा प्रदेश कांग्रेस प्रदेश सरकार के इस मैदान को वापिस लेने की मुहिम पर प्रश्र चिन्ह लगा रहे हैं। इन दोनों दलों के नेता इस मैदान को क्रिकेट एसोसिएशन को देने का विरोध कर रहे हैं।

 

 

अभिनेता परीक्षित साहनी आएंगे शिमला

शिमला, 01 मई । 

फिल्मी कलाकार, लेखक व निर्देशक परीक्षित साहनी राजधानी के प्रतिष्ठित निजी स्कूल ‘सेंट थामस’ के समारोह में शिरकत लेने शिमला आएंगे। स्कूल की 100वीं वर्षगांठ पर आयोजित समारोह में साहनी मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होंगे। समारोह 7 मई से 11 मई तक चलेगा। साहनी समारोह की समाप्ति के बाद छह दिन तक शिमला में रूकेंगे।

स्कूल की प्रधानाचार्य विधुप्रिय चक्रवर्ती ने मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत में बताया कि समारोह में देश-विदेश की कई हस्तियां शामिल होंगी। सीबीएसई के अध्यक्ष विनीत जोशी, लेखिका धीरा किचलु, थियेटर निर्देशक सुब्रहमनयम, फिल्म मेकर विवेक मोहन, थियेटर आर्टिस्ट सुधो बेनर्जी, कलासिक्ल डांसर संध्या पुरेचा, संगीतकार नंदिन बनर्जी सहित जर्मनी से पांच लोगों का दल स्कूल समारोह मे सम्मिलत होगा।

चार दिन तक चलने वाले इस समारोह को स्कूल प्रबंधन ने ‘पिंक ब्रोंज फैस्टिवल’ का नाम दिया है। फैस्टिवल का आयोजन गेयटी थियेटर, वाईडब्लयूसीए कंपलैक्स और समापन स्कूल परिसर में होगा। शहर के 11 निजी स्कूल भी समारोह में भाग लेंगे।

स्कूल प्रधानाचार्य ने बताया कि समारोह में जहां बच्चों के लिए विभिन्न कल्चर प्रोगाम, चिल्डरन फिल्म फैस्टिवल, नॉलेज वर्कशापस का आयोजन होगा, वहीं हैंडिक्राफटस व हिमाचली व्यंजनों को प्रोत्साहन देने के लिए प्रदर्शनियां लगाई जाएंगी। रविंद्रनाथ टैगोर की 150वीं जयंती के अवसर पर सेमीनार का आयोजन होगा। समारोह में रग बिखेरने के लिए कलासिक्ल सिंगर हरप्रीत सिंह मौजूद रहेंगे। तीन वर्ष तक की आयु के बच्चों से लेकर 24 वर्ष तक के युवा विभिन्न गतिविधियों में भाग लेंगे।

अग्रेजों के शासनकाल के दौरान ग्रीष्मकालीन राजधानी शिमला के पुराने प्रतिष्ठित स्कूलों में सेंट थामस का नाम आता है। वर्ष 1912 में स्कूल की नींव रखी गई थी। उस समय इसे हाई स्कूल का दर्जा प्राप्त था तथा यह केवल लड़कियों के लिए था।

 

 

Shanta’s advice is like an order for us: Dhumal

Shimla/ April 30

In an impossible bid to placate rival BJP leader Shanta Kumar, Chief Minister Prem Kumar Dhumal on Monday said “whatever the senior BJP leader, Shanta Kumar advices is like an order for us”. Talking to media here on Monday, Dhumal said the government was concerned about Shanta Kumar’s dream project of multi speciality hospital and medical college at Palampur and was committed to expedite the same.

Chief Minister said that  previous BJP government’s had given an amount of Rs. 4.15 Crore to the Vivekananda Medical Research Trust to the construction of Vivekananda Medical College and Research Institute (VMRI), a dream project of Shanta Kumar.

The Congress government after coming into power in the state had even tried hard to take this money back, he said.

He said that under this project a construction work of 54000 square meters has completed and there was no delay in the process on BJP government’s behalf.

He said that government was ready to give NOC for the trust if any proposal comes from the trust.

“We had advertised the Palampur- Neugal Ropeway project three times and after getting poor response we have even awarded this project to the single bidder,” Dhumal said. He said this project would soon be completed.

Chief Minister said that BJP government will also take Shanta’s advice on the creation of new district. “Shanta Kumar had not been able to attended this meeting due to his busy schedule and next meeting would surely attended by the him,” Dhumal.

Chief Minister however refused to comment on party affairs but said that BJP was doing well in Himachal.

“The issue of creating new districts has nothing to do with the election year and it has been raised by the people. The party will take the opinion of every leader and people on this issue and after that the final decision would be taken, “the Chief Minister said.

 

 

बंगाणा और संगड़ाह को सरकार का तोहफा, खुलेंगे एसड़ीएम आफिस

शिमला, 30 अप्रैल। 

हिमाचल प्रदेश मंत्रिमण्डल ने ऊना जिले के बंगाणा और सिरमौर जिला के संगड़ाह में नए उप-मण्डल कार्यालय (नागरिक) सृजित करने का निर्णय लिया गया है। बंगाणा उप-मण्डल से 40 ग्राम पंचायतों के 73,054 लोग लाभान्वित होंगे तथा 38 पटवार वृत्त इसके अधिकार क्षेत्र में होंगे, जबकि संगड़ाह उपमण्डल की 41 ग्राम पंचायतों की 70,406 जनसंख्या को लाभ मिलेगा। 25 पटवार वृत्त इसके नियंत्रण में होंगे। मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने बैठक की अध्यक्षता की।

मंत्रिमण्डल ने हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड, धर्मशाला के माध्यम से दो वर्षीय जूनियर बेसिक शिक्षक प्रशिक्षण कोर्स में विद्यार्थियों के प्रवेश के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लिया है।
मंत्रिमण्डल ने प्रथम अप्रैल, 1912 से हिमाचल प्रदेश स्वतंत्रता सेनानी सम्मान योजना-1985 के अन्तर्गत जीवित स्वतंत्रता सेनानियों की ‘सम्मान राशि’ को 5000 रुपये से बढ़ाकर 7500 रुपये प्रतिमाह तथा पात्र पत्नियों एवं अविवाहित लड़कियों को 3000 रुपये से बढ़ाकर 3500 रुपये प्रतिमाह करने को स्वीकृति प्रदान की है। इससे लगभग 900 लाभार्थी लाभान्वित होंगे।

मंत्रिमण्डल ने सम्बन्धित विभागों में उपलब्ध रिक्त पदों पर कार्य कर रहे दिहाड़ीदार/कंटीजेंट पेड वर्कर तथा अनुबंध कर्मचारियों को जनजातीय क्षेत्रों एवं विनिर्दिष्ट के अलावा कलेण्डर वर्ष में न्यूनतम 240 दिवसों के साथ 31 मार्च, 2012 तक आठ वर्षों का लगातार सेवाकाल पूरा करने पर उनकी सेवाएं नियमित करने के सम्बन्ध में समान नीति अपनाने के लिए सभी विभागों को निर्देश जारी करने का निर्णय लिया है।

मंत्रिमण्डल ने राज्य के बंदोबस्त कार्यालय के 100 कैज्यूल पटवारियों की समेकित (कंसालोलिडेटिड) वेतन को तुरंत प्रभाव से 4,828 रुपये से बढ़ाकर 7,500 रुपये करने को स्वीकृति प्रदान की।
मंत्रिमण्डल ने हिमाचल प्रदेश मूल्य आधारित कर (संशोधन) अध्यादेश 2012 को लागू करने का निर्णय लिया है ताकि अधिनियम के कुछ प्रावधानों में संशोधन कर ‘सी’ और ‘डी’ श्रेणी ठेकेदारों तथा ढाबे/कैंटीन इत्यादि चला रहे छोटे व्यापारियों को सुविधा प्रदान की जा सके।

मंत्रिमण्डल ने सार्वजनिक निजी भागेदारी (पीपीपी) मोड पर पालमपुर शहर में पार्किंग एवं व्यावसायिक परिसर के निर्माण को स्वीकृति प्रदान की है ताकि शहर के स्थानीय नागरिकों को व्यावसायिक एवं पार्किंग की सुविधाएं उपलब्ध हो सकें।

 

 

सुद्रिप्तो रॉय वने हिमाचल प्रदेश के नए मुख्य सचिव

शिमला, 30 अप्रैल।

1978 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी और वर्तमान में अतिरिक्त मुख्य सचिव वन, पर्यावरण, विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी तथा प्रदेश सरकार के ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी (अनुश्रवण एवं समन्वय) सुद्रिप्तो राय प्रदेश के नये मुख्य सचिव नियुक्त किए गए हैं। वह सुश्री हरिन्द्र हीरा का स्थान लेंगे, जो 30 अप्रैल को सेवानिवृत्त हो गईं।

राय ने इससे पूर्व भारत सरकार तथा राज्य सरकार में अनेक महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया। वह हमीरपुर व कांगड़ा जिलों के उपायुक्त रहे तथा मण्डी के मण्डलायुक्त के तौर पर भी कार्य किया। वह हिमाचल सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, कृषि, सहकारिता, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज, तकनीकी शिक्षा, शिक्षा के सचिव भी रहे तथा प्रधान सचिव वन एवं वित्तायुक्त अपील एवं एपिलेट अथॉरिटी के अध्यक्ष के रूप में भी कार्य किया।

राय ने वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय में अवर सचिव, पर्यावरण एवं वन मंत्रालय में क्षेत्रीय निदेशक, शहरी विकास एवं गरीबी उन्मूलन मंत्रालय में आयुक्त तथा कपड़ा मंत्रालय में संयुक्त सचिव के तौर पर अपनी सेवाएं दी हैं।

रॉय वर्ष 2007 से वर्ष 2010 तक बंगलादेश के ढाका में अन्तर्राष्ट्रीय जूट अध्ययन समूह के सेक्रेटरी जनरल के तौर पर भी कार्यरत रहे।

उन्होंने प्रथम मार्च, 2011 को राज्य में अतिरिक्त मुख्य सचिव के तौर पर कार्यभार संभाला। रॉय पंजाब विश्वविद्यालय से लोक प्रशासन में एम.फिल. हैं तथा हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से इतिहास में स्नातकोत्तर किया है।

 

फुलबैरी पर दो दिवसीय अन्तरराष्ट्रीय सम्मलेन संपन्न

शिमला, 29 अप्रैल।

भारतीय त्वचा विज्ञान समिति (डरमेटोलॉजिकल सोसायटी ऑफ इंडिया) द्वारा आयोजित विटिलिगो अकादमी ऑफ इंडिया की पहली वार्षिक बैठक तथा द्वितीय ‘विटलिकान’ पर दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन रविवार को शिमला में सम्पन्न हो गया। सम्मेलन का उद्घाटन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डा. राजीव बिंदल ने किया।

उन्होंने इस अवसर पर कहा कि इस रोग की स्थायी प्रवृत्ति, लम्बा उपचार, प्रभावी उपचार की कमी तथा रोग की अप्रत्याशित प्रक्रिया के कारण फुलबैरी (सफेद दाग) से पीडि़त रोगी अक्सर निरूत्साहित हो जाते हैं। इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि इस रोग के मनोवैज्ञानिक घटकों से निपटने और रोग की पहचान कर बेहतर उपचार को सुनिश्चित बनाया जाये, जिसके लिए सामाजिक जागरूकता महत्वपूर्ण है।

उन्होंने कहा कि फुलबैरी के उपचार से सम्बन्धित विभिन्न मामलों में राय विकसित करने की आवश्यकता है। वर्तमान परिप्रेक्ष्य में इस रोग से प्रभावी तरीके से निपटने के लिए इस क्षेत्र में कार्य कर रही विभिन्न अंतरराष्ट्रीय शोध समितियों एवं विशेषज्ञों के विचारों का आदान-प्रदान किया जाना चाहिए। इसके अतिरिक्त, विभिन्न मंचों से समन्वय स्थापित कर सामुदायिक भागीदारी के माध्यम से लोगों में जागरूकता लाने की आवश्यकता पर बल दिया।

डा. मोरोपिकार्डो ने उद्घाटन सत्र में ‘विटिलिगो इज़ पासिबल ऑटो-इनफलेमेट्री डिज़ीज’ पर अपना प्रस्तुतीकरण दिया। डा. खालिद ऐजिडीन, डा. सलाफिया एनटोनियों तथा डा. एस.गुप्ता ने भी इस महत्वपूर्ण विषय पर अपने शोध पत्र पढ़े।
भारत तथा विदेशों से आये 250 प्रतिभागियों ने इस सम्मेलन में भाग लिया तथा विभिन्न विषयों पर अपने विचार सांझा किये।

आतंकवाद देश के लिए बड़ी चुनौती : धूमल

शिमला, 29 अप्रैल। 

मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि आतंकवाद आज देश के सामने एक बड़ी चुनौती है। आतंकवादी व अलगाववादी ताकतों को मुंह तोड़ जवाब देने के लिए सभी को एकजुट प्रयास करने होंगे। धूमल रविवार को जालंधर में शहीद परिवार फंड द्वारा आयोजित समारोह को सम्बोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अलगाववादी शक्तियां देश के विकास में बड़ी बाधा है, जिनका मनोबल तोडऩा आज समय की सबसे बड़ी जरूरत है। उन्होंने कहा कि आतंकवादी का कोई धर्म या मज़हब नहीं होता है और न ही आतंकवादी किसी वर्ग, समाज या धर्म के हितैषी माने जा सकते हैं। पंजाब ने आतंकवाद का घिनौना चेहरा देखा है, जब हजारों लोगों को बेघर होना पड़ा और हजारों मासूम जि़ंदगियां आतंकवाद की भेंट चढ़ गए। उन्होंने कहा कि देश के कई हिस्सों में बढ़ती आतंकवादी व अलगाववादी ताकतों को समाप्त करने के लिए सभी को एकजुट होना चाहिए।

धूमल ने कहा कि आतंकवाद से पीडि़त परिवारों का पुनर्वास सभी की जिम्मेदारी है। उन्होंने ‘शहीद परिवार फंड’ द्वारा आतंकवाद पीडि़त परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए समय-समय पर ऐसे समारोह आयोजित करने के लिए हिन्द समाचार पत्र समूह की प्रशंसा की।
इस समारोह में आतंकवादी पीडि़त परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान की गई।

 

चोरों ने मंदिर में की चोरी, निजी बस पर भी किया हाथ साफ

शिमला, 29 अप्रैल। 

राजधानी शिमला में चोरी की घटनाओं से लोग सहमे हुए हैं। चोरों की हिमाकत इस कद्र बढ़ गई है कि वे मंदिरों को भी निशाना बनाने से परहेज नहीं कर रहे हैं। ऐसा ही एक मामला बीती रात को उस समय सामने आया जब धामी क्षेत्र के पनोग गांव स्थित हनुमान मंदिर से चोर चांदी का एक छनबार और दो छत्र चुराकर रफुचक्कर हो गए। इनकी कीमत 5 हजार रूपये तक बताई जा रही है। इसके अलावा मंदिर के गुंबद से 5 हजार रूपये भी गायब हैं। पुलिस ने पनोग गांव के देव प्रकाश की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है।

उधर, बीती रात ही शहर के भीड़भाड़ वाले इलाके खलीनी से एक निजी बस की चोरी का मामला सामने आया है। खलीनी के हरीश कुमार ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि शनिवार रात चोर उसकी निजी बस एचपी-03बी-2899 को चुरा ले गए। पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है

 

चंबा भरमौर मार्ग भारी वर्षा व भूस्खलनों के कारण बंद

चंबा, 29 अप्रैल।

हिमाचल प्रदेश के कई भागों में प्रतिदिन बारिश हो रही है। इसका असर अब साफ दिखाई देने लगा है। जिला चंबा के में भी कई दिनों से लगातार वर्षा हो रही है जिस कारण चंबा की सडक़ें बंद होती जा रही हैं। चंबा भरमौर मार्ग रात भर वर्षा होने के कारण कई स्थानों से बंद है जिस कारण आज सुबह से चंबा —  खड़ामुख , चंबा होली, चंबा भरमौर, मार्ग पर बसें नहीं चल सकी । हजारों की संख्या में यात्रियों के फंसे होने की आश्ंाका है।

आसमानी बिजली के गिरने के कारण जिला चंबा में अब तक सैंकड़ों भेड़ बकरियों के मरने का समाचार मिला है । आजकल  भेड़ बकरी पालक गर्म स्थानों से ऊंचे पहाड़ों की तरफ चलते हैं वर्षा व बार बार आसमानी बिजली के चमकने के कारण  उन्हें पहाड़ों में बनी कंदराओं में आश्रय लेना पड़ता है। ऐसे में वे आसमानी बिजली के कहर के कारण परेशान रहते हैं।

उधर, राजधानी शिमला में रविवार को भी मौसम साफ नहीं हो सका। दोपहर होते-होते बारिश शुरू हो गई जिससे शीत लहर फिर से आंरभ हो गई। शिमला जिला में पिछले पंद्रह दिनों से बारिश के साथ ओलाबृष्टि हो रही है। जिससे बागवानों को भारी नुकसान होने का अनुमान है। प्रदेश में अभी तक बारिश और ओलाबृष्टि के चलते उद्यान विभाग के अनुसार 150 करोड़ से भी अधिक का नुकसान होने का अनुमान है।

सबसे अधिक नुकसान शिमला, कुल्लू और मण्ड़ी जिला में हुआ है। ओलाबृष्टि से सबसे अधिक सेब की फसल प्रभावित हुई है। कई बागवानों का कहना है कि उनकी 80 फीसदी फसल ओलाबृष्टि की भेंट चढ़ गई है।

पुलिस अधिकारियों के तबादले, हमीरपुर और चंबा के एसपी बदले

 शिमला, 28 अप्रैल। 

हिमाचल प्रदेश में सरकार ने दो आईपीएस और 26 एचपीएस अधिकारियों के तबादले किए हैं। साथ ही आठ पदोन्नत डीएसपी को नई स्थानों पर तैनाती दे गई है। नए तबादला आदेशों में चंबा और हमीरपुर जिला के एसपी को बदला गया है। पुलिस अधीक्षक चंबा मधुसूदन को एस.पी. हमीरपुर लगाया है। एस.पी. हमीरपुर कुलदीप शर्मा को पुलिस अधीक्षक चंबा का कार्यभार सौपा है।

एचपीएस अधिकारियों में 8 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक तथा 18 डीएसपी हैं। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षकों में  के.जी कपूर को ऊना से हमीरपुर, राकेश सिंह को हमीरपुर से ऊना, भागमल को पुलिस प्रशिक्षण केंद्र डरोह से बिलासपुर, भगत ङ्क्षसह को बिलासपुस से बस्सी, राकेश ङ्क्षसह को मंडी से थर्ड आई.आर.बी.पंडोह, रविंद्र जसवाल को थर्ड आई.आर.बी. से मंडी, कुलवंत सिंह को विजीलैंस चंबा से जिला चंबा, पदम चंद को चंबा से स्टेट विजीलैंस चंबा लगाया है। इसके अतिरिक्त 18 डी.एस.पी को भी बइदला गया है।