किसानों-बागवानों की आर्थिक समृद्वि सरकार की प्राथमिकताः नैहरिया

धर्मशाला । नॉर्थ गजट संवाददाता

 

वर्ष-2022 तक किसानों-बागवानों की आय को दोगुना  कर उनकी आर्थिकी को सुदृढ़ बनाना सरकार की उच्च प्राथमिकता है। यह जानकारी विधायक विशाल नैहरिया ने आज राजकीय उच्च पाठशाला झियोल में कृषि विभाग द्वारा आयोजित किसान मेले में बतौर मुख्यातिथि शिकरत करते हुए दी। उन्होंने कहा कि देश के समग्र विकास में कृषि का महत्वपूर्ण योगदान है।  उन्होंने कहा कि कृषि के विकास के लिए आरंभ की गई योजनाओं से जहां देश में खाद्यानों का उत्पादन बढ़ा है, वहीं किसानों की आर्थिकी मजबूत हुई है।

नैहरिया ने कहा कि फसल विविधिकरण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शुरू की गई फसल विविधिकरण प्रोत्साहन योजना ‘‘जाईका’’ किसानों की आय तथा कृषि गतिविधियों में बढ़ावा देने में कारगर साबित हुई है। उन्होंने कहा कि केन्द्र तथा प्रदेश सरकार द्वारा किसानों-बागवानों के कल्याण के लिए कई महत्वपूर्ण योजनाएं शुरू की गई हैं तथा इन योजनाओं का लाभ पात्र लोगों तक पहुंचाना सरकार का ध्येय है। उन्होंने कृषि तथा बागवानी अधिकारियोें की प्रशंसा करते हुए कहा कि उनके द्वारा समय-समय पर उपलब्ध करवाई जा रही जानकारियों से सभी को लाभ  पहुंचा है।  उन्होंने कृषि वैज्ञानिकों से समय-समय पर किसानों के खेतों का भ्रमण कर सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं व आधुनिक कृषि तकनीकें पहुंचाने को कहा।

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से किसानों को काफी लाभ पहुंचा है। उन्होंने कीटनाशकों तथा उर्वरकों के अत्याधिक इस्तेमाल पर चिंता व्यक्त करते हुए किसानों से शून्य लागत प्राकृतिक खेती को अपनाने पर बल दिया। नैहरिया ने इस अवसर पर स्वयं सहायता समूहों तथा कृषि व बागवानी विभाग द्वारा लगाई गई प्रर्दशनियों का भी अवलोकन किया। इस मौके पर प्रगतिशील किसानों को प्रशस्ति पत्र व प्रोत्साहन राशि देकर सम्मानित किया गया। इससे पहले, ज़िला परियोजना प्रबन्धक राजेश सूद ने मुख्यातिथि का स्वागत किया तथा विभाग द्वारा चलाई जा रही योजनाओं पर जानकारी दी।
ये रहे मौजूद

वित्तीय साक्षरता शिविर का आयोजन

पालमपुर। राजेश व्यास

कांगड़ा केंद्रीय सहकारी बैंक पालमपुर द्वारा सिंडिकेट एरिया के वार्ड नंबर-5 में नाबार्ड द्वारा प्रायोजित वित्तीय साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में उपस्थित लोगों और महिलाओं को जन धन योजना, सुरक्षा बीमा योजना, डिजिटल भुगतान के बारे जानकारी दी। शिविर में लोगों को किसी भी फोन तथा ई-मेल इत्यादि पर एटीएम कार्ड, पिन नंबर और आधार कार्ड की जानकारी किसी को भी ना देने के बारे जागरूक किया गया। शिविर में बैंक अधिकारी, राजेश शर्मा, अनुराग डोहरू, सुशांत शर्मा और अर्पिता महाजन द्वारा महिलाओं को बैंक की विभिन्न योजनाओं के बारे जानकारी दी गई। महिलाओं को बैंकिंग तकनीक और इसके उपयोग तथा सावधानियां के बारे भी अवगत कराया गया।

शांता कुमार बोले सभी वाइस चांसलर विवेकानन्द जन्मोत्सव समारोह में भाग लें

शिक्षक वर्ग से की विवेकानन्द जन्मोत्सव समारोह में सक्रिय सहयोग की अपील

पालमपुर। राजेश व्यास

भूतपूर्व मुख्यमंत्री एवं विवेकानन्द ट्रस्ट के अध्यक्ष शांता कुमार ने एक वक्तव्य में हिमाचल प्रदेश के शिक्षा जगत वाईस चांसलर, प्रिंसीपल और मुख्याध्यापकों से स्वामी विवेकानन्द जन्मोत्सव समारोह में सक्रिय सहयोग देने की अपील की है। उन्होंने प्रदेश की सभी तीन हजार शिक्षा संस्थानों को पत्र लिख कर निवेदन किया है कि स्वामी जी के जीवन पर होने वाली प्रतियोगिता में भाग लें। यदि कहीं पत्र न मिला हो तो कायाकल्प की वैवसाई पर देख लें।

उन्होंने कहा कि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू, नेताजी सुभाष चन्द्र बोस, स्वतन्त्रता सेनानी अरविन्द घोष, राजगोपालाचार्य जैसे देशभक्त नेताओं ने कहा था कि स्वामी जी ने आजादी की लड़ाई के लिए पृष्ठभूमि तैयार की। अंग्रेजी राज्य से प्रभावित और ईसाई मिशनरियों के प्रचार के कारण भारत हीन भावना में सो रहा था। उस समय स्वामी जी ने भारत की युवा शक्ति का ेअपने सन्देश से जगाया, उठाया और उसी के कारण स्वतन्त्रता संग्राम में देश जूझा और भारत आजाद हुआ।

शांता कुमार ने कहा कि आज की युवा पीढ़ी को स्वामी विवेकानन्द जी के सन्देश की बहुत अधिक आवश्यकता है। इसी लिये हिमाचल प्रदेश में पहली बार अपनी प्रकार की पहली प्रतियोगिता हो रही है। कुल 144 पुरस्कार 11 लाख रू0 के दिये जाएगें। मेरी इच्छा है कि हिमाचल प्रदेश की सभी शिक्षा संस्थाएं इसमें भाग लें।

61 करोड़ से संवरेंगी सुलह की सड़कें: परमार

 

कहा, हिमकेयर योजना में प्रदेश के लगभग 50 हजार लोगों को 48 करोड़ रुपये की स्वास्थ्य सेवा सहायता उपलब्ध करवाई गई

राजेश व्यास। पालमपुर

सुलह विधान सभा क्षेत्र में सड़कों के निर्माण और रख-रखाब पर 61 करोड़ रुपये व्यय किये जा रहे हैं। यह जानकारी स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री, विपिन
सिंह परमार ने शुक्रवार को सुलह विधान सभा क्षेत्र के पनापर-खोली गांव में 2 करोड़ 10 लाख रुपये की लागत से बनने वाले ताहल खड्ड पर 30 मीटर स्पैन पुल और गांव को जोड़ने वाली सड़क का भूमिपूजन करने के उपरांत लोगों को संबोधित करते हुए दी।

उन्होंने कहा कि सुलह हलके सभी पंचायतों को पक्की सड़कों से जोड़ दिया गया है और हलके के प्रत्येक गांवों को भी जीप योग्य सड़क सुविधा से जोड़ने के लिए गंभीर प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सुलह विधान सभा क्षेत्र में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना पर 15 करोड़ 72 लाख, नावार्ड में 41 करोड़ 59 लाख और मुख्यमंत्री ग्रामीण सड़क योजना में 122 लाख रुपये के कार्य जारी हैं। उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त 50 किलोमीटर सड़कों की टारिंग का कार्य किया गया है। परमार ने कहा कि धीरा से काहनफट्ट और परौर से धीरा-नौरा सड़कों के भी सुधार तथा विस्तार पर 29 करोड़ रुपये किये जायेंगे।

इस अवसर उन्होंने पनापर-खोली गावं में पेयजल के सुधार के लिए साढ़े 3 लाख से लगाये गये विद्युतिकृत नलकूप का लोकार्पण भी किया। उन्होंने कहा कि ताहल खड्ड पर पुल और पनापर-खोली के लिए सड़क के निर्माण होने से यहां के लोगों की वर्षों पुरानी मांग पुरी होगी। उन्होंने लोक निार्मण विभाग को पुल और सड़क को एक वर्ष में निर्मित कर लोगों को सुविधा देने के आदेश दिये।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि समाज की जरूरतों को पूरा करना सरकार की जिम्मेवारी है और समाज हा वर्ग के उत्थान तथा विकास के लिए सरकार गंभीर है। उन्होंने कहा कि ने आयुषमान योजना में प्रदेश के करीब 46 हजार लोगों को निःशुल्क स्वास्थ्य सेवाओं पर लगभग 44 करोड़ रुपये व्यय किये गये हैं, जबकि हिमकेयर योजना में प्रदेश के लगभग 50 हजार लोगों को 48 करोड़ रुपये की स्वास्थ्य सेवा सहायता उपलब्ध करवाई गई है। है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जनवरी से मार्च माह तक एक बार फिर हिमकेयर कार्ड बनाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि जिन्होंने हिमकेयर कार्ड अभी नहीं बनाये हैं, इसका लाभ प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश इसी माह से सहारा योजना भी आरंभ की जा रही है, जिसमें 8 गंभीर बीमारियों से ग्रसित लोगों की सहायता के लिए 2 हजार रुपये प्रति माह के हिसाब से 24 हजार प्रतिवर्ष दिया जायेगा।

उन्होंने कहा कि पनापर-खोली में फुट ब्रिज की रिपेयर के लिए 5 लाख औरे पनापर हार में पेयजल सुधार के लिए एक ओवर हैड टैंक बनाने की घोषणा की। इससे पूर्व स्वास्थ्य मंत्री ने में लोगों की समस्याओं को भी सुना। कार्यक्रम में सुलह के मंडलाध्यक्ष देशराज शर्मा, संजीव धरवाल, हरिदत शर्मा, जिला परिषद सदस्य कंचन चौधरी, स्थानीय प्रधान दिनेश परिहार, उपप्रधान मंजीत कुमार, महेंद्र सिंह, राकेश कुमार, शांता कुमार, अनिल राणा एसडीएम धीरा विकास जम्वाल, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण मुनीष सहगल, अधिशासी अभियंता विद्युत प्रीतम कपूर, तहसीलदार पालमपुर वेद प्रकाश, सीडीपीओ विजय शर्मा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी ओर क्षेत्र के गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

सत्यमेव जयते और तथ्यों पर आधारित हो पत्रकारिता : पंकज शर्मा

प्रैस क्लब पालमपुर में प्रैस दिवस कार्यक्रम का आयोजन

राजेश व्यास, पालमपुर-

राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर प्रेस क्लब पालमपुर में उपमण्डल स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में एसडीएम पालमपुर पंकज शर्मा ने शिरकत की और कार्यक्रम की अध्यक्षता  डीएसपी पालमपुर अमित शर्मा ने की।

एसडीएम पालमपुर, पंकज शर्मा ने राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर इस तरह कार्यक्रम के आयोजन की बधाई दी। उन्होंने कहा कि रिपोर्टिंग सत्यमेव जयते और तथ्यों पर आधारित होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रेस परिषद का गठन प्रेस की स्वतंत्रता की रक्षा एवं पत्रकारिता के उच्च आदर्शों कायम रखने के लिए किया गया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में पत्रकारिता का क्षेत्र बहुत व्यापक है ऐसे में पत्रकारों के लिए भी यह कार्य अधिक चुनौती पूर्ण हो रहा है।

 

कार्यक्रम में ‘‘रिपोर्टिंग-व्याख्या-एक यात्रा’’ विषय पर परिचर्चा का आयोजन किया गया, जिसमें पालमपुर के बुद्धिजीवी वर्ग और पत्रकारों ने भाग लिया। परिचर्चा में डॉ0 एससी कपिला, अनु गोयल, नवीन पठानियां, आदित्य सलूजा ने अपने-अपने विचार रखे। पालमपुर यूनियन ऑफ जर्नालिस्ट के प्रधान संजीव बाघला ने मुख्यातिथि का स्वागत किया और रिपोर्टिंग-व्याख्या-एक यात्रा विषय पर अपने विचार रखे।

सहायक लोक संपर्क अधिकारी पालमपुर अनिल धीमान ने राष्ट्रीय प्रेस दिवस की बधाई दी और परिचर्चा में भाग लिया। उन्होंने कहा कि पत्रकार, सरकार और लोगों में पुल की भूमिका अदा कर सरकार की योजनाओं तथा नीतियों को जनमानस तक पहुंचाने कार्य करते हैं। डीएसपी पालमपुर, अमित शर्मा ने पत्रकारों को प्रेस दिवस की बधाई देते हुए रिपोर्टिंग करते समय दोनों पक्षों को प्रकाशित करने का विशेष ध्यान रखने की बात कही। उन्होंने कहा कि मीडिया लोकतंत्र का चौथा और सशक्त स्तंभ है इसलिये इनकी जिम्मेदारियां भी अधिक है।

 

भाजपा नेता शांता कुमार बोले प्रदूषण रोकने के लिए जनसंख्या वृद्वि पर लगे लगाम

 

सरकार जनसंख्या वृद्वि रोकने की नीति पर करे विचार ,कहा लोगों की नाक बंद नहीं का जा सकती

राजेश व्यास। पालमपुर
भारतीय जनता जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं हिमाचल प्रदेश के भूतपूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व सांसद शान्ता कुमार ने कहा है कि राजधानी दिल्ली में प्रदूषण अत्यन्त खतरनाक स्तर पर पहुंच गया । गैस चैम्बर बनी दिल्ली में बीमारों की संख्या 20 प्रतिशत बढ़ गईं। विश्व स्वास्थ्य सगंठन की एक रिपोर्ट के अनुसार विश्व के सबसे अधिक प्रदूषित 10 नगरों में से 9 नगर केवल भारत में है। एक रिपोर्ट के अनुसार प्रतिवर्ष 12 लाख लोग प्रदूषण के कारण मरते हैं। राजधानी नहीं लगभग आधा देश प्रदूषण से त्रस्त है। विवश होकर दिल्ली में स्वास्थ्य एमरजैंसी की घोषणा की गई। स्कूलों को बन्द कर दिया गया।लेकिन क्या लोगों की नाक भी बन्द की जा सकती है। प्रति पल सांस लेने में वही जहरीली हवा अन्दर जाएगी। एम्ज के अनुसार बच्चों में प्रदूषण के कारण कैंसर की बीमारी हो रही है।

उन्होनें कहा कि प्रदूषण के बहुत कारण हैं। परन्तु सबसे बड़ा और सब कारणों की जड़ में बढ़ती आबादी का विस्फोट ही नहीं प्रकोप भी हैं। 34 करोड़ से बढ़ कर हम 140 करोड़ हो रहे हैं। बढ़ती आबादी के दबाव में जंगल कटे,मकान बने, रेत माफिया पैदा हुआ, गाड़ियों की संख्या बढ़ी।अवैध कालोनियां बनी। देश की राजधानी दिल्ली में 1500 अवैध कालोनियों को वोट बैंक के दबाब में वैध कर दिया गया। इस सब के मूल में बढ़ती आबादी का विस्फोट है।

वरिष्ठ भाजपा नेता शान्ता कुमार ने कहा कि भारत विश्व की तीसरी बढ़ती अर्थव्यवस्था और देश की राजधानी गैस चैम्बर ग्लोबल हंगर इन्डैक्स में विश्व के 117 देशों में भारत बहुत नीचे 102 स्थान पर है। विश्व के सबसे अधिक भूखे लोग भारत में हैं। इस सब का सब से बड़ा कारण बढ़ती आबादी है। उन्होनें कहा कि कभी चीन भारत के मुकाबले अधिक पिछड़ा था। गरीबीअधिक थी।आबादी बहुत अधिक बढ़ रही थी।चीन ने आबादी रोकी।गरीबी दूर कर ली और विश्व की एक महाशक्ति बन गया।आज जबकि राजधानी में प्रदूषण 900 से ऊपर है तब चीन की राजधानी में यह केवल 61 है। बर्लिन में 20 है। यह 100 से ऊपर खतरनाक होता है। यदि चीन ने आबादी न रोकी होती तो आज चीन में 40 करोड़ अधिक लोग होते। हमारी तरह गरीबी भी होती और प्रदूषण भी होता।

उन्होनें कहा कि क्या हम इतने नालायक हैं कि चीन की तरह प्रतिपल मरती और घुटती अपनी जिन्दगी को बचा नहीं सकते। उन्होनें देश के नेताओं, बुद्धिजीवियों और मीडिया से अपील की है कि वे प्रदूषण के अन्य सब कारणों की जड़ में बढ़ती आबादी के कारण पर भी सोचे, लिखे और आवाज उठायें। सरकार अति शीघ्र आबादी रोकने के लिये कानून बनाये। बाकी उपाय युद्ध स्तर पर किये जायें।

Death Well– कहां हो रहा है यह मौत का खेल

f

कहां हो रहा है यह मौत का खेल..

जी हां यहां कोई अपनी मौत से खेल रहा है और लोग तमाशा देख रहे हैं

 

जानिए 2019 के नोबेल पुरस्कार प्राप्त विजेताओं के बारे

Source and Compilation by Gyanpeeth Academy Dharamshala 98169-69067

नोबल पुरस्कार को विश्व का सर्वोच्च पुरस्कार माना जाता है और यह पुरस्कार हर साल शांति, साहित्य, अर्थशास्त्र, चिकित्सा विज्ञान, रसायन और भौतिकी विषय क्षेत्रों में प्रदान किए जाते हैं। स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल की याद में इस पुरस्कार की शुरूआत 1901 में नोबेल फाउंडेशन के माध्यम से की गई थी।..

“Devdhun” entered as a record in the India Book of Records

North Gazette News/ Kullu

2200 musicians played traditional instruments together at one place on Kullu Dussehra International Festival

North Gazette News/ Kullu

Whole atmosphere in Kullu valley was filled with religious fervour and divinity when  over 2200 Bajantris (instrumentalists) congregated at the Atal Sadan ground. Chief Minister Jai Ram Thakur Jai Ram Thakur was also present on the occasion of playing ‘Devdhun’ at International Kullu Dussehra festival today. Devdhun is the sound that resonates after playing different traditional instruments when deities move out of their temples to join local festivals.

The Chief Minister was presented a medal and certificate by the representatives of India Book of Records  as the ‘Devdhun’ has been entered as a record  in the India Book of Records with a record  2200 Bajantries playing the musical instruments simultaneously.

Himachal CM urges to preserve rich culture and traditions of HP

Speaking on the occasion, the Chief Minister said that it was a great honour for the people of the State in general and people of Kullu district in particular that the ‘Devdhun’ has entered the India Book of Records for being an event in which over 2200 musicians played traditional instruments together at one place to fill the whole atmosphere with divinity and traditional fervour. He said that the efforts of the musicians were indeed laudable.

Jai Ram Thakur said that the State Government would ensure that this event not only become a regular event but also an added attraction of International Kullu Dussehra. He said that in the present era of cut throat competition, our age old culture and traditions were slowly vanishing and urged the people to come forward to conserve the same. He announced Rs. 5 lakh from his discriminatory fund to the Bajantaries who performed during the event.

Earlier, the Chief Minister laid foundation stone of statue of Bharat Ratan Atal Bihari Vajpayee at Atal Sadan Kullu to be built by spending an amount of Rs. 22 lakh.

He inaugurated Nagujhour-Mashna-Thach road constructed at a cost of Rs. 6.31 crore under PMGSY Stage –II and online flagged off bus on this route.

He inaugurated academic block ‘A’ of Polytechnic building Kullu constructed at a cost of Rs. 5.75 crore and renovated building of Deputy Commissioner Office at Kullu at a cost of about Rs 83 lakh.

Forest, Transport and Youth Services and Sports Minister Govind Thakur said that the Devdhun played on the occasion of international Kullu Dussehra was a concept suggested by the Chief Minister Jai Ram Thakur which shows his interest and love for the Dev Samaj and State culture.

Newly appointed Chief Advisor of the APMC, Ramesh Sharma welcomed the Chief Minister and thanked him for entrusting the new responsibility. He assured the Chief Minister that he would work with commitment and sincerity to come up to his expectations.

President of the Kardar Sangh apprised the Chief Minister regarding various demands of the Sangh.

Member of Parliament Ram Swaroop Sharma, MLA Sunder Singh Thakur, Vice Chairman  HPMC Ram Singh, Deputy Commissioner Dr. Richa Verma, SP Gaurav Singh were also present on the occasion among others.

हिमाचल उपचुनाव : जयराम सरकार की अग्निपरीक्षा, मूर्छित कांग्रेस को संजीवनी की तलाश

भाजपा कांग्रेस के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बनें उपचुनाव

नार्थ गजट संवाददाता। धर्मशाला, शिमला

देवभूमि हिमाचल के धर्मशाला और पच्छाद विधानसभा क्षेत्रों के उपचुनाव जीतने को लेकर सत्तासीन भाजपा सरकार और विपक्षी कांग्रेसं दोनों ही बेताब हैं। दोनों ही दलों के लिए ये चुनाव प्रतिष्ठा का सवाल बन गए हैं। सत्तासीन भाजपा सरकार जहां इस उपचुनाव में अपनी विकासात्मक नीतियों को लेकर जनता के बीच जाएगी तो वहीं विपक्षी कांग्रेस सरकार की नाकामियों को जनता के बीच रखेगी।

इन विधानसभा उपचुनावों के परिणााम भले की सत्ता के सिंहासन के समीकरणों को बदलने का कोई मादा नहीं रखतें हों लेकिन इसके बावजूद दोनों दलों के लिए यह उपचुनाव अग्निपरीक्षा साबित हो रहे हैं। पहली बार मुख्यमंत्री बने जयराम ठाकुर के लिए तो इन उपचुनावों के नतीजे तो खास मायने रखते हैं। वैसे भी वह अंदरखाते कई बदलाव के बाद आए विरोधों का सामना कर रहे हैं। भाजपा अगर यह उपचुनाव जीत जाती है तो जयराम पर नौसिखिए और अनुभवहीनता का लेबल लगाने वाले अपने ही घर के विरोधियों का मुंह हमेशा के लिए बंद हो जाएगा।

वहीं दूसरे तरफ कांग्रेस के लिए ये उपचुनाव एक खोई हुई साख को बचाने की चुनौती है। कांग्रेस वर्तमान में सबसे बुरे दौर में गुजर रही है। देश में ही नहीं बल्कि हिमाचल प्रदेश में भी कांग्रेस इस समय सबसे कमजोर दिख रही है। इन उपचुनावों में अगर कांग्रेस को जीत मिलती है तो यह बीमार कांग्रेस के लिए रामबाण औषधि साबित होगी। हिमाचल में पिछले लोकसभा चुनावों में दो भाजपा के विधायकों के सासंद बनने पर धर्मशाला और पच्छाद विधानसभा सीटें खाली हो गई थीं। इन दोनों ही खाली सीटों के लिए 21 अक्तूबर को विधानसभा उपचुनाव होने जा रहे हैं जबकि 24 अक्टूबर को इनके नतीजे नतीजे आएंगे।

इस बार कांग्रेस ने पच्छाद विधानसभा सीट पर पुराने चेहरे गंगूराम मुसाफिर को चुनावी रण में उतारा है, तो भाजपा ने पच्छाद विधानसभा क्षेत्र से नए चेहरे रीना कश्यप को टिकट दिया गया है। मुसाफिर अपने अनुभव के सहारे कांग्रेस के किले को और मजबूत करने की कोषिष करेंगे तो वहीं रीना कष्यप सत्तासीन भाजपा सरकार का लाभ लेते हुए भाजपा की जीत सुनिष्चित करने की कोशिश करेंगी। रीना कश्यप 2006 से भाजपा की सदस्य हैं।इसके अलावा वह जिला परिषद की सदस्य रही हैं और भाजपा एससी मोर्चा की मीडिया सह प्रभारी पद पर भी हैं।

2017 विधानसभा चुनाव में भी गंगूराम मुसाफिर ने विधानसभा चुनाव लड़ा था लेकिन वह बीजेपी के सुरेश कश्यप से हार गए थे। 2012 के विधानसभा चुनावों में मुसाफिर को बीजेपी के सुरेश कुमार कश्यप ने 2805 वोटों से हराया था। लेकिन मुसाफिर के लंबे अनुभव को देखते हुए कांग्रेस ने एक बार फिर उन पर दांव लगाया है। मुसाफिर 2012 में हारने से पहले 1982 से इस सीट पर जीतते आ रहे थे। वह मंत्री के अलावा, हिमाचल विधानसभा के स्पीकर भी रह चुके हैं।

धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव की बात करें तो यहां भी मुकाबला अपनों की बगावत के चलते काफी रोचक रहेगा। कांग्रेस के चिर परिचित चेहरे व पूर्व मंत्री सुधीर इस बार चुनाव लड़ने से कन्नी काट चुके हैं तो ऐसे में कांग्रेस ने नए चेहरे विजय इंद्र कर्ण चुनाव मैदान में उतारा है। उनके सामने भाजपा की तरफ से युवा नेता विशाल नैहरिया चुनाव लड़ रहे हैं।काफी दिन से इस विधानसभा सीट के लिए भाजपा में टिकट को लेकर माथापच्ची चल रही थी। नैहरिया अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता रहे हैं। इसके अलावा वह कॉलेज व रीजनल सेंटर में एससीए प्रधान भी रहे हैं। वर्तमान में वह भाजपा युवा मोर्चा के राज्य सचिव हैं।

गौरतलब है कि धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र से लगभग तीन दशक बाद भाजपा का चेहरा बदल रहा है। इससे पहले तक कांगड़ा से वर्तमान सांसद किशन चंद कपूर इस विधानसभा क्षेत्र का नेतृत्व कर रहे थे। भाजपा की जीत सुनिश्चित करने लिए नए चेहरे नैहरिया के लिए गददी समुदाय से संबंध रखना और भाजपा का सत्तासीन होना ही काफी नहीं रहेगा बल्कि उन्हें बागियों के भीतरधात की चुनौती को भी पार करना होगा। इसी तरह यहां कांग्रेस भी बागियों की चुनौती का सामना कर रही है। इस सीट के लिए लगभग दोनों ही राजनीतिक दलों से लगभग दर्जन भर उम्मीदवार टिकट के लिए लाबिंग कर रहे थे।

Maruti Suzuki S-Presso is packed with strong and robust characteristics

North Gazette News

 

Maruti Suzuki latest product, S- PRESSO, which was launched on September 30, is not only packed with many safety features, but has many strong and bold characteristics. This makes the product worth buying for the mid segment class. This  Mini SUV like S-PRESSO starts at Rs 3.69 Lakh (ex-showroom) and has six variants. The top variant costs around 4.95 lakhs ( Ex- showroom). This little SUV is powered with 1.0 liters K10 engine and as well as BS VI compliance.

Himachal mulls ropeway project worth Rs. 600 crores for Pangi

North Gazette News

 

MLA Bharmour Jia Lal today thanked the Chief Minister Jai Ram Thakur for pursuing the Ropeway Project for Pangi area for approval with the Centre Government. This ropeway project is a pilot project which was sent by the state government for approval in the month of September this year.

He said that the Chief Minister is ensuring equitable development in the state and in this series, the approval of this project was possible due to the efforts of Chief Minister.

The Union Ministry of Tribal Affairs has approved this 21.4 kilometers ropeway in five stages with an estimated cost of about Rs. 600 crores for Pangi area from Bhanodi to Pregara on Killar side for providing round the year connectivity to the area.