शांता कुमार बोले धर्मगुरू दलाईलामा की जासूसी घटना बेहद चिंता का विषय

धर्मगुरू दलाई लामा की सुरक्षा को और पुख्ता करने की मांग की

राजेश व्यास। पालमपुर

पूर्व मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता शान्ता कुमार ने धर्मगुरू दलाई लामा की जासूसी की घटना पर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने केंद्र सरकार से इस बारे उचित कार्यवाही की मांग करते हुए इस घटना पर भारत सरकार से अति शीघ्र उचित कार्यवाही करने की मांग की।
प्रेस बयान में उन्होंने मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर से आग्रह किया है कि वे दिल्ली में विषेश रूप से भारत सरकार के अधिकारियों को मिलकर इस विषय पर शीघ्र जांच की मांग करें। मुख्यमंत्री धर्मशाला के प्रदेश अधिकारियों से विचार विमर्श करके धर्मशाला में महामहिम दलाईलामा की सुरक्षा व्यवस्था पर पुर्नविचार करने के बाद कड़े कदम उठाने की व्यवस्था करें। शान्ता कुमार ने इस घटना के बाद धर्मगुरू दलाई लामा की सुरक्षा को और पुख्ता करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि नाम बदल कर लम्बे समय से भारत में रहने और धर्मगुरू दलाईलामा की जासूसी करने के आरोप में एक चीनी नागरिक का पकड़ा जाना बहुत बड़ी घटना है।

शान्ता कुमार ने कहा कि महामहिम दलाईलाम केवल तिब्बत सरकार के ही मुख्य नही हैं वे इस समय पूरे विश्व में सबसे अधिक सम्मानित आध्यात्मिक नेता हैं। उन्हें विश्व का सबसे बड़ा सम्मान नोबेल पुरूस्कार मिल चुका है। वह इस समय पूरे विश्व में एक शान्तिदूत के रूप में समझे जाते हैं।

उन्होंने कहा कि आज दलाईलामा भारत में महात्मा बुद्ध के एक प्रतिरूप की तरह हैं। प्रदेश और केन्द्र सरकार उनकी सुरक्षा की सारी व्यवस्था पर एक बार फिर से विचार करे। उन्होंने कहा कि यह चिन्ता ही नही दुर्भाग्य की बात भी है कि इस चीनी नागरिक के बारे में तिब्बत की निर्वासित सरकार और दिल्ली में केन्द्र की सरकार दोनों अन्धेरे में रहे।