लोकमित्र केंद्रों पर मिलेंगी परिवहन विभाग सभी आनलाइन सेवाएं

नार्थ गजट न्यूज। शिमला

परिवहन मंत्री गोविन्द सिंह ठाकुर ने आज यहां परिवहन विभाग की आनलाइन सेवाएं प्रदान करने के लिए बनाई गई ‘ई परिवहन व्यवस्था’ की प्रस्तुति रिपोर्ट की अध्यक्षता की। बैठक के प्रारम्भ में उन्होंने भारत और चीन के बीच में सीमा पर हुई झड़प में शहीद हुए पंजाब रेजीमेंट के सिपाही अंकुश ठाकुर की शहादत पर गहरा शोक व्यक्त किया। उन्होंने परम पिता परमात्मा से दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करने की प्रार्थना की।

गोविन्द सिंह ठाकुर ने कहा कि लोगों को घर-द्वार पर सेवाएं प्रदान करने के लिए परिवहन विभाग सदैव ही तत्परता से कार्य करता रहा है। ‘ई-परिवहन व्यवस्था’ प्रदेश वासियों को आनलाइन सेवाएं प्रदान करने के लिए उठाया गया एक सराहनीय कदम है। इस व्यवस्था के अन्तर्गत लोग अपने घर, कार्यालय और लोकमित्र केंद्रों के माध्यम से परिवहन विभाग की सेवाओं का आॅनलाइन उपयोग कर सकते हैं। इस व्यवस्था के अन्तर्गत माल गाड़ी के परमिट, विशेष सड़क भुगतान, टैक्सी परमिट, वाहन पंजीकरण सर्टिफिकेट, ड्राइविंग लाईसेंस, टोकन टैक्स आदयगी जैसी सुविधाएं लोगों को आॅनलाइन उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि इस व्यवस्था के अन्तर्गत वाहन माॅडल अनुमोदन जैसी सुविधाएं प्रदेश में ही उपलब्ध हो सकेगी स्मार्ट ट्राॅस्पोर्ट सेवा सुविधा के अन्तर्गत व्यक्ति को केवल एक बार ही अपना पंजीकरण करवाना होगा। ई-परिवहन व्यवस्था के अन्तर्गत व्यक्ति अपनी गाड़ी के परमिट, मालवाहक परमिट, वाहन माॅडल अनुमोदन परमिट और ड्राइविंग ट्रैनिंग स्कूल परमिट का आॅनलाइन स्टेटस देख पाएगा।

परिवहन मंत्री ने कहा कि इस व्यवस्था के अन्तर्गत युवाओं को रोजगार के नए अवसर प्रदान करने पर भी बल दिया जाएगा। प्रदेश के लोगों को टैक्सी परमिट प्रदान किए जाएंगे और प्रदेश में ई-रिक्शा प्रणाली को बढ़ावा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही इस व्यवस्था का शुभारम्भ मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर द्वारा किया जाएगा। इस व्यवस्था से सभी लोग लाभान्वित होंगे और उन्हें परिवहन सेवा सम्बन्धी कार्यों के लिए कार्यालय के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे।

बैठक के दौरान प्रधान सचिव परिवहन के.के. पन्त, निदेशक कैप्टन जे.एम. पठानिया सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित रहे।