पालमपुर उपमंडल से 450 कश्मीरी मज़दूरों को जम्मू कश्मीर भिजवाया

राजेश व्यास। पालमपुर

लॉकडाउन और कर्फ्यू में देश के विभिन्न राज्यों से मजदूरी का काम करने आये लोगों को भी प्रदेश सरकार ने उनके घरों तक पहुंचाने का काम आरम्भ कर दिया है। पालमपुर उपमंडल से लगभग 450 कश्मीरी मज़दूरों को जम्मू कश्मीर भिजवाया गया है। पहले चरण में लगभग 400 मजूदरों को 14 बसों के माध्यम से जम्मू कश्मीर के सांबा तक छोड़ा गया था। आज पालमपुर से 3 बसों में लगभग 55 कश्मीरी मज़दूरों को भेजा गया। लॉक डाउन और कर्फ्यू में राशन इत्यादि उपलब्ध और उनका ध्यान रखने के लिये आज कश्मीरी मज़दूरों ने प्रदेश सरकार और पालमपुर प्रशासन का आभार प्रकट किया।
राजौरी ज़िला के सलीम मोहम्मद, कुपवाड़ा के मोहम्मद अकबर, किस्तबाड के मोहम्मद हनीफ, रामबाण के लहर सिंह, राजौरी के फरीब अहमद, कठुआ के वसीर अहमद, डोडा के मुहम्मद हुसैन और जम्मू के सोनू ने कहा कि उन्हें अपने घर जाने की बहुत खुशी है। सभी ने एकमत प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, प्रदेश सरकार और पालमपुर प्रशासन सभी ने विशेष आभार प्रकट किया कि दुनिया भर में कोरोना वायरस जैसी महामारी में लॉकडाउन तथा कर्फ्यू में भी मज़दूरों को ध्यान में रखकर उनकी घर वापसी की व्यवस्था की है।
उनका कहना था कि बसों के माध्यम से सोशल डिस्टैंसिंग का पूरा ध्यान रख कर उन्हें बसों में बिठाया गया। लोगों ने कहा कि प्रशासन ने सभी मज़दूरों को मास्क, बस में सेनिटाइजर, उनके खाने के लिये फ़ूड टिन, बिस्कुट और पानी इत्यादि उपलब्ध करवाना एक अच्छी पहल है।
एसडीएम पालमपुर ने बताया कि पालमपुर उपमंडल से दो चरणों मे कश्मीरी मज़दूरों को भेजा गया गया है। उन्होंने कहा कि मजूदरों के लिये रास्ते में खाने के पैक, बिस्कुट, पानी इत्यादि व्यवस्था की गई है। सारी बसों को सेनिटाइज करने के बाद ही बिठाया गया है। उन्होंने बताया कि जम्मू कश्मीर के राजौरी, उदयपुर, कूपवाडा किश्तवाड़, रामबाण, रियासी , डोडा , कठुआ और जम्मू जिलों मज़दूरों को 17 बसों में भेजा गया है। उन्होंने कहा कि बसों के साथ नायब तहसीलदार अब्दुल वसीर तथा मनोज नाग को साथ भेजा गया है।

देखंे क्या बोलें एसडीएम पालमपुर धर्मेश रमो़त्रा–  https://www.facebook.com/nilu.dhiman.3/videos/10218324288271853/