हिमाचल में मछली पकडऩे पर प्रतिबंध

शिमला, 27 नवंबर ।

सरकार ने सभी प्राकृतिक व कृत्रिम जल स्त्रोतों में मछली के शिकार पर तुरंत प्रभाव से रोक लगा दी है, जो कि अगले वर्ष फरवरी तक जारी रहेगी। मत्सय विभाग ने अपने आदेश लागू करवाने के लिए विशेष उडऩदस्ते गठित किए हैं, जो उल्लंघन करने वालों के खिलाफ नियमानुसार कड़ी कार्यवाही करेंगे। मछली बीज तैयार करने के उद्देश्य से यह रोक लगाई गई है।
वर्ष 2011-12 में राज्य में करीब पचास करोड़ पचपन लाख रूपये का आठ हजार पैंतालीस मीट्रिक टन मछली उत्पादन हुआ था। मत्सय विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि इस दिशा में विभाग ने प्रदेश में विशेष उडऩदस्ते गठित किए हैं। उन्होंने कहा कि इस दौरान जो भी मछली पकड़ता हुआ पाया जाएगा उसके खिलाफ नियमानुसार कड़ी कार्यवाही की जाएगी।