स्क्रब टाइफिस से दो मौतें

शिमला, 04 सितम्बर।

प्रदेश के कुछ क्षेत्र स्क्रब टाइफिस वायरस की चपेट में आ गए हैं। बीते दो दिनों में स्क्रब टाइफिस से राज्य में 2 मौतें हो चुकी हैं। इसके अलावा प्रतिदिन कई मामले आईजीएमसी अस्पताल में परीक्षण के लिए आ रहे हैं। आईजीएमसी के वरिष्ठ चिकिस्ता अधीक्षक केएस राणा ने बताया कि आज राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से टैस्टिंग के लिए 18 मामले अस्पताल आए, इनमें एक में स्क्रब टाइफिस के वायरस की पुष्ठि हुई है। उन्होंने बताया कि स्क्रब टाइफिस से पिछले दो दिनों में दो रोगियों की मौतें हो चुकी हैं। इनमें एक मरीज हमीरपुर और दूसरा चौपाल क्षेत्र से संबंधित थे।
राज्य में पिछले दो सालों में स्क्रब टाइफिस से करीब 27 लोगों की जानें जा चुकी हैं। इस दौरान स्क्रब टाइफिस के 1206 मामले आए, जिनमें 948 मामले गत वर्ष के हैं। हालांकि इस साल इस बीमारी के अधिक मामले सामने नहीं आने से स्वास्थ्य विभाग राहत महसूस कर रहा था, मगर अचानक दो मौतों से विभाग हरकत में आ गया है। चिकित्सकों ने स्क्रब टाइफिस से बचाव के लिए लोगों से एहतियात बर्तने और इसके लक्षण सामने आते ही तुरंत अस्पताल में संपर्क करने की सलाह दी है। स्क्रब टाइफिस घास में पाए जाने वाले एक पिस्सु के काटने से फैलता है। इसके लक्षणों में तेज बुखार, सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द, कफ, खांसी और पेट की खऱाबी हैं।