वीरभद्र के बयान पर बिफरे शिक्षा मंत्री

शिमला, 21 सितंबर ।

स्कूली बच्चों को अटल स्कूल वर्दी देने में दो वर्ष की देरी लगाने के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष वीरभद्र सिंह के बयान को शिक्षा मंत्री आईडी धीमान ने झूठ का पुलिंदा करार दिया है। आज जारी एक बयान में शिक्षा मंत्री ने कहा कि वीरभद्र अपनी बयानबाजी से लोगों को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं।
धीमान ने कहा कि अटल स्कूल वर्दी योजना राज्य सरकार की अपनी अनूठी योजना है, जिस पर प्रदेश सरकार द्वारा 64 करोड़ रुपये का व्यय किया जा रहा है। इस योजना के अन्तर्गत प्रदेश सरकार, सरकारी स्कूलों में पहली से दसवीं कक्षा तक पढ़ रहे सभी बच्चों को साल में दो नि:शुल्क वर्दियां उपलब्ध करवाने के साथ-साथ 100 रुपये प्रति वर्दी सिलाई की अदायगी भी करती है। योजना के प्रथम चरण में 928365 वर्दियां बच्चों को उपलब्ध करवाई गई है तथा दूसरे चरण में किन्नौर, लाहौल स्पिति कुल्लू व सिरमौर जिलें के लिए 151154 वर्दियां भेजी जा चुकी है।
शिक्षा मंत्री ने स्पष्ट किया कि वीरभद्र सिंह द्वारा नि:शुल्क वर्दी के लिए 84 करोड़ रूपये की केन्द्रीय सहायता उपलब्ध होने का बयान तथ्यहीन है। उन्होंने कहा कि पिछले दो वर्षों के दौरान बच्चों को वर्दी उपलब्ध करवाने के लिए सर्व शिक्षा अभियान की वार्षिक योजना के अन्तर्गत कोई भी राशि केंद्र सरकार द्वारा अनुमोदित नहीं की गई।
उन्होंने कहा कि इस वर्ष राज्य सरकार द्वारा अटल स्कूल वर्दी योजना लागू करने के उपरान्त केन्द्र सरकार ने भी इस योजना को अपनाया है तथा केवल मात्र कक्षा  पहली से आठवीं में पढऩे वाली लड़कियों, अनुसूचित जाति एवं जनजाति के बच्चों को वर्दी उपलब्ध करवाने के लिए इस वर्ष 12 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की वार्षिक योजना में नि:शुल्क स्कूल बैग उपलब्ध करवाने का कोई भी प्रावधान केन्द्र सरकार द्वारा अनुमोदित नहीं किया गया है।