विश्व बैंक द्वारा जलागम परियोजना का विस्तार कर 185 करोड़ रुपये स्वीकृत

 शिमला, 28 सितंबर।

विश्व बैंक ने हिमाचल प्रदेश मध्य हिमालय जलागम विकास परियोजना को तीन वर्ष का विस्तार देकर इसके लिए 185 करोड़ रुपये ऋण की स्वीकृति प्रदेश सरकार को प्रेषित की है। मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने यह जानकारी विश्व बैंक के को-टास्क लीडर श्री रंजन सांमतारे से इस सम्बन्ध में स्वीकृति सूचना मिलने के उपरांत दी। प्रेषित सूचना के अनुसार इस सम्बन्ध में निर्णय विश्व बैंक की वांशिगटन में 27 सितम्बर, 2012 को हुई बैठक में लिया गया।
यह परियोजना बंजर क्षेत्रों में पारम्परिक जल स्त्रोतों को ‘रि-चार्ज’ करने तथा हरित आवरण बढ़ाने में विश्ेाष रूप से सहायक सिद्ध हुई है। धूमल ने कहा कि इस परियोजना के माध्यम से स्थानीय लोग अपनी बंजर भूमि को पुन: कृषि योग्य बनाने में सफल रहे हैं तथा उन्हें उनके घर-द्वार के समीप रोजग़ार एवं स्वरोजग़ार के अवसर उपलब्ध हुए हैं। परियोजना के विस्तार एवं अतिरिक्त धनराशि उपलब्ध होने से और अधिक ग्राम पंचायतों को इसमें शामिल किया जा सकेगा।

उन्होंने कहा कि परियोजना के अन्तर्गत अब 10 जिलों के 43 विकास खण्डों की 704 ग्राम पंचायतें शामिल होंगी।

प्रो. धूमल ने कहा कि अतिरिक्त वित्तीय सहायता परियोजना के प्रभाव और विकास की पहुंच को परियोजना क्षेत्र में प्राकृतिक संसाधनों की उपलब्धता के माध्यम से बढ़ायेगी। परियोजना की निर्धारित अवधि 31 मार्च, 2013 तक थी किन्तु इसे अब 31 मार्च 2016 तक बढ़ा दिया गया है। उन्होंने कहा कि अतिरिक्त विस्तार समय और वित्त के माध्यम से 704 ग्राम पंचायतों के अधिक क्षेत्र और व्यक्तियों को लाभान्वित करने में सहायता मिलेगी।