राज्य सरकार ने कर्मचारियों को 7500 करोड़ रुपये के वित्तीय लाभ दिए : धूमल

शिमला, 07 सितम्बर।

मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि प्रदेश सरकार ने राज्य के कर्मचारियों को 7500 करोड़ रुपये के वित्तीय लाभ प्रदान किए हैं। सोलन जिला के नालागढ़ के अन्तर्गत पंजैहड़ा में एक जनसभा में मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने गत साढ़े चार वर्षों में समाज के प्रत्येक वर्ग विशेषकर कमजोर वर्गों को लाभान्वित करने के लिए अनेक योजनाएं कार्यान्वित की हैं। सरकार के विभिन्न कार्यक्रमों एवं योजनाओं से ये वर्ग व्यापक तौर पर लाभान्वित हुए हैं।
प्रो. धूमल ने कहा कि प्रदेश में उपभोक्ताओं को निर्बाद्ध एवं सस्ती दरों पर विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित बनाई जा रही है। उद्यमियों को प्रदेश में नए उद्योग स्थापित करने के लिए विद्युत शुल्क में पांच प्रतिशत तक की कमी की गई है। इसके अतिरिक्त, उन्हें अन्य सुविधाएं भी प्रदान की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि अटल बिजली बचत योजना के अन्तर्गत प्रदेश भर में सभी घरेलू उपभोक्ताओं को चार-चार सीएफएल बल्ब नि:शुल्क प्रदान किए गए हैं, जिससे 110 करोड़ रुपये की ऊर्जा बचत हुई है।
धूमल ने कहा कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन को 200 रुपये से बढ़ाकर 450 रुपये किया गया है। प्रदेश सरकार गरीबी रेखा से नीचे रहे रहे परिवारों एवं जरूरतमंद व गरीब लोगों को आधारभूत सुविधाएं जैसे उपदान दरों पर खाद्यान्न एवं आवास सुविधाएं उपलब्ध करवा रही है। इंदिरा आवास योजना के अतिरिक्त अटल आवास योजना आरम्भ की गई है। इस योजना के अन्तर्गत लाभार्थियों को आवास निर्माण के लिए 48,500 रुपये की राशि उपलब्ध करवाई जा रही है और आवास के मुरम्मत के लिए 15 हजार रुपये की राशि दी जा रही है। अटल स्वास्थ्य योजना के तहत आपात स्थिति में आधे घण्टे से एक घण्टे के भीतर नि:शुल्क एम्बुलेंस सेवा उपलब्ध करवाई जा रही है। नवजात शिशु को सरकारी अस्पतालों में एक वर्ष तक नि:शुल्क उपचार सुविधा प्रदान की जा रही है। गर्भवती महिलाओं को सरकारी संस्थानों में नि:शुल्क प्रसव सुविधा प्रदान की जा रही है।
उन्होंने कहा कि प्रतिभावान विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति के साथ नेट बुक उपलब्ध करवाई जा रही है और अटल स्कूल यूनिफार्म योजना भी आरम्भ की गई है। इसके अन्तर्गत वर्ष में दो बार मुफ्त वर्दी प्रदान की जा रही है और सिलाई के लिए 100 रुपये प्रति वर्दी अतिरिक्त दिए जा रहे हैं।