भाजपा विधायक बालनाहटा ने फिर दिखाए तल्ख तेवर

शिमला, 25 सितंबर।

रोहडू क्षेत्र से भाजपा के विधायक खुशी राम बालनाहटा ने एक बार फिर राज्य में अपनी ही सरकार पर निशाना साधा है। पिछले काफी समय से बालनाहटा सतारूढ़ भाजपा सरकार पर लगातार हमले बोल रहे हैं। उन्होंने सरकार पर भ्रष्टाचार और भूमाफिया आदि को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। इसके अलावा उन्होंने प्रदेश भाजपा के पुराने कार्यकर्ताओं को हाशिए पर धकेलने का भी आरोप जड़ा। शिमला में आज पत्रकार वार्ता में बालनाहटा ने कहा कि प्रदेश में वर्तमान नेतृत्व में भाजपा का मिशन रपीट संभव नहीं है।
उन्होंने भाजपा सरकार पर जेपी इंडस्ट्री पर मेहरबान होने का आरोप लगाया। उन्होंने सरकार से पूछा कि प्रदेश उच्च न्यायालय द्वारा 100 करोड़ का जुर्माना लगाने के बाद जहां सरकार को उस कम्पनी को ब्लैक लिस्ट करना चाहिए था लेकिन इसके ठीक विपरीत सरकार ने उस पर मेहरबानी करते हुए पिछले कल सिंगल विंडों में एक सीमेंट प्लांट की एक्सटेंशन की अनुमति दे दी। उन्होंने कहा कि सरकार कुछ व्यक्ति विशेष को प्रदेश के प्रकृतिक संपदा को लुटा रही है, जो कि दुर्भाग्यपूर्ण है।

निजी विश्वविद्यालयों पर सरकार को घेरते हुए बालनाहटा ने कहा कि बिना नियमों के इन्हेंं भूमि दी गई है। निजी विश्वविद्यालयों ने यूजीसी के नियमों को दर किनार किया है। इनमें शिक्षक. छात्र दर व आधारभूत ढांचा यूजीसी नियमों के अनुसार नहीं है।
उन्होंने सरकार से निजी विश्वविद्यालय के नाम पर चल रहे घपले या घोटाले को सामने लाने के लिए विशेष कैग आडिट करने व दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की ताकि भविष्य में इस तरह के संस्थान न खुल सके। उन्होंने प्रदेश सरकार के डीजल में दशमलब 10 प्रतिशत की कमी को जनता के साथ एक मजाक करार दिया। उन्होंने कहा कि इससे केवल मात्र साढ़े चार पैसे की राहत मिलेगी जो की ऊंट में मुंह में जीरा के समान है।