प्रदेश को 1155 करोड़ रुपये की विश्व बैंक परियोजना स्वीकृत: मुख्यमंत्री

 हमीरपुर, 01 सितम्बर।

मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि प्रदेश सरकार पर्यावरण संरक्षण के लिए 1155 करोड़ रुपये की विश्व बैंक परियोजना स्वीकृत करवाने में सफल रही है।  मुख्यमंत्री ने शनिवार को हमीरपुर जि़ला के टौणी देवी में हाल ही में स्वीकृत बमसन तहसील को टौणी देवी में कार्यशील करते हुए यह बात की। टौणी देवी जि़ला की छठी और प्रदेश की 84वीं तहसील बनी है।
उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला टौणी देवी में 87 लाख रुपये की लागत से निर्मित विज्ञान भवन विद्यार्थियों को समर्पित किया और खण्ड विकास अधिकारी कार्यालय के कर्मचारियों के लिए आवासीय परिसर की आधारशिला भी रखी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश देशभर में पर्यावरण संरक्षण के लिए आदर्श बनकर उभरा हैै और विश्व बैंक ने पर्यावरण संरक्षण के लिए हमारे प्रयासों की लगातार सराहना की है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा राज्य के राशन कोटे में कमी किए जाने के बावजूद राज्य सरकार सभी उपभोक्ताओं को राहत दिलाने के लिए आवश्यक वस्तुओं पर उपदान दे रही है।  इस पर वर्तमान वित्त वर्ष के दौरान 140 करोड़ रुपये व्यय किए जा रहे हैं।
प्रो. धूमल ने कहा कि अटल स्वास्थ्य योजना वरदान साबित हुई है जिसके अंतर्गत मरीजों को स्वास्थ्य संस्थानों तक नि:शुल्क एम्बुलैंस सुविधा दी जा रही है।योजना के अंतर्गत नि:शुल्क संस्थागत प्रसव सुविधा, चिकित्सीय जांच, अन्य संबंधित परीक्षण और 700 रुपये की नकद सहायता उपलब्ध करवाई जा रही है। हिमाचल प्रदेश पहला राज्य है जो ‘अटल स्कूल यूनिफार्म योजना’ के अंतर्गत सरकारी स्कूलों में पहली से 10वीं कक्षा तक पढऩे वाले सभी विद्यार्थियों को वर्ष में दो बार मुफ्त यूनिफार्म प्रदान कर रहा है। इसके अलावा, सिलाई के लिए भी प्रति यूनिफार्म 100 रुपये दिए जा रहे हैं।   
उन्होंने कहा कि 01 सितम्बर, 1972 को अस्तित्व में आया हमीरपुर जि़ला चार दशकों में रिकॉर्ड विकास का गवाह बना है। इस ऐतिहासिक दिन को बमसन में तहसील खोली गई है जिससे क्षेत्र के लोगों को विभिन्न राजस्व व प्रशासनिक सेवाएं उपलब्ध होंगी। इसके अधीन 19 पटवार वृत्त आएंगे और क्षेत्र के लगभग 36,000 लोगों को बेहत्तर राजस्व एवं ई-स्टांपिंग सुविधाएं भी उपलब्ध होंगी।