सीडी मामले में वीरभद्र सिंह ने हाईकोर्ट में दायर याचिकाएं ली वापिस

शिमला, 31 अगस्त।

हाल ही में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का पदभार संभालने वाले वीरभद्र सिंह ने सीडी मामले में प्रदेश उच्च न्यायालय में दायर याचिकाएं वापिस ले ली हैं। सिंह ने उच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी कि सीडी मामले में उन पर दायर एफआई रद की जाए और मामला जांच के लिए सीबीआई को भेजा जाए।

सतर्कता व भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो द्वारा नियुक्त किए गए विशेष अधिवक्ता जीवन लाल ने बताया कि उच्च न्यायालय ने वीरभद्र सिंह की याचिकाओं को स्वीकारते हुए कथित मामले को वापिस ले लिया और उन्हें सीडी मामले में विशेष अदालत में सामना करने को कहा। मुख्य न्यायधीश कुरियन जोसेफ और डीसी चौधरी की खंडपीठ ने याचिका को स्वीकारते हुए आरोपी को आदेश दिए कि विश्ेाष न्यायाधीश बीएल सोनी की अदालत में 7 सितंबर को पेश हों। 29 अगस्त को वीरभद्र सिंह ने प्रदेश अध्यक्ष का पदभार सभालते हुए यह कहा था कि वह सीडी मामले में उनके द्वारा दायर सभी याचिकाओं को वापिस लेंगे।
उल्लेखनीय है कि वीरभद्र व उनकी पत्नि पर पुलिस ने 3 अगस्त 2009 को मामला दर्ज किया था। इस मामले में कांग्रेस के पूर्व मंत्री विजय सिंह मनकोटिया द्वारा जारी की गई सीडी के आधार पर मामला दर्ज किया था। पांच बार मुख्यमंत्री रह चुके वीरभद्र सिंह पर 23 साल पुराने इस मामले सिंह पर इस मामले में आरोप तय होने के बाद उन्हें बतौर केंद्रीय शुक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री छोडऩा पड़ा था।