विद्यार्थी परिषद हार नहीं पचा पा रही : एसएफआई

शिमला, 24 अगस्त ।

एसएफआई के राज्य सचिव विक्रम सिंह ने कहा है कि प्रदेश विश्वविद्यालय और शहर के अन्य कॉलेजों में विद्यार्थी परिषद को करारी हार मिली है। उन्होंने कहा कि परिषद अपनी हार नहीं पचा पा रही है और बोखलाहट व झुंझुलाहट के चलते निराधार बयानबाजी कर रही है। आज प्रेस वार्ता में बिक्रम सिंह ने कहा कि आरकेएमवी कॉलेज में कल चुनावों के दौरान हुई मारपीट में एसएफआई का हाथ नहीं था। विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने यहां शिकस्त मिलने के कारण हिंसा को अंजाम दिया है। उन्होंने कहा कि इस कॉलेज में एसएफआई ने एकतरफा जीत दर्ज की है। सीटों पर जीत का अंतर 250 तक रहा है। ऐसे में परिषद चुनावों में धांधली होने का मनगढ़ंत आरोप जड़ रही है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी परिषद कॉलेज छात्रों के जनादेश को स्वीकर करे। गौर हो कि परिषद ने आरकेएमवी में चुनावों के दौरान महाविद्यालय प्रशासन पर धंाधली का आरोप लगाते हुए चुनाव परिणाम रद्द करने की मांग उठाई है। कॉलेज में एसएफआई के पूरे पैनल ने जीत दर्ज की है।
राज्य सचिव ने एससीए चुनावों में प्रदेश में 102 सीटें जीतने का दावा करते हुए कहा कि गत वर्ष के मुकाबले एसएफआई की सीटों में इजाफा हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रदेश विवि में एसएफआई के पैनल ने रिकार्डतोर मतों से जीत दर्ज की है और यहां भाजपा के संगठन विद्यार्थी परिषद को करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है। विभागीय प्रतिनिधियों की 49 सीटों में परिषद मात्र 1 सीट अपने नाम कर पाई। इससे साफ है कि छात्र समुदाय प्रदेश सरकार की शिक्षा विरोधी नीतियों के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि एसएफआई विवि में छात्रों के बुनियादी मुद्दों होस्टल, क्लासरूम और बस किराया को प्रमुखता से उठाएगी।