प्रदेश में कल चुनी जाएगी छात्र संसद, सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम

शिमला, 22 अगस्त ।

हिमाचल प्रदेश में केंद्रीय छात्र संघ चुनावों के लिए कल मतदान होगा। सांय परिणाम घोषित होते ही छात्र संगठनों की किस्मत का फैसला हो जाएगा। प्रदेश के 98 महाविद्यालयों व विश्वविद्यालय में 404 पदों के लिए एससीए चुनाव लिंगदोह कमेटी की सिफारिशों के आधार पर हो रहे हैं। कल सुबह साढ़े 9 बजे से लेकर 2 बजे तक मतदान तथा 3 बजे से वोट की गिनती शुरू होगी और चुनाव परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे।
चुनावों के दौरान पुलिस प्रशासन ने किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं। कॉलेज कैंपसों में पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं, सादी वर्दी में भी पुलिस का पहरा रहेगा। सुरक्षा की दृष्टि से अति संवेदनशील प्रदेश विवि में पुलिस की अतिरिक्त वैटालियनें तैनात की गई हैं। एडीजीपी लॉ एंड आर्डर केसी सडयाल ने सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों को सुरक्षा का उचित बंदोवस्त करने के निर्देश दिए हैं।
सतारूढ़ भाजपा और विपक्षी कांग्रेस पार्टी के लिए यह छात्र चुनाव प्रतिष्ठा का सवाल बन गए हैं। चंद माह बाद प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में राजनीतिक पार्टियां छात्र संसद में जीत का परचम लहराकर अपने पक्ष में माहौल बनाने की कवायद करेंगी। छात्र चुनावों में मुख्य मुकाबला भाजपा समर्थित एबीवीपी और कांग्रेस के संगठन एनएसयूआई के बीच होगा। हालांकि विवि सहित कई कॉलेज एसएफआई के पंरपरागत गढ़ हैं। प्रदेश विश्वविद्यालय में एसएफआई, एबीवीपी और एनएसयूआई ने अपने पैनल उतारे हैं। यहां मुख्य मुकाबला लाल और भगवा ब्रिगेड के बीच ही माना जा रहा है। विवि में बरसों से लाल ब्रिगेड काबिज रही है। वर्ष 1978 से लेकर एसएफआई ने विवि में एकछत्र राज किया है। विद्यार्थी परिषद महज तीन बार जीत हासिल कर पाई है।

विवि के कुलपति प्रो.एडीएन वाजपेयी ने सभी छात्रों से शांतिपूर्वक तरीके से मतदान करने की अपील की है। कुलपति चुनाव प्रक्रिया का जायजा लेने के लिए शहर के कॉलेजों का दौरा करेंगे। विवि के जनसंपर्क अधिकारी रणवीर वर्मा ने बताया कि कुलपति संजौली, कोटशेरा, फागली, संध्याकालीन महाविद्यालय, आरकेएमवी और क्षेत्रीय अध्ययन केंद्र का दौरा कर मतदान प्रक्रिया का जायजा लेंगे।