कांग्रेस पार्टी 27 को करेगी विधानसभा का घेराव

शिमला, 19 अगस्त ।

प्रदेश कांग्रेस मानसून सत्र के दौरान विधानसभा का घेराव करेगी। इस बार विधानसभा का मानसून सत्र 27 से 30 अगस्त तक चलेगा। प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष ठाकुर कौल सिंह ने बताया कि 27 अगस्त को विस का घेराव किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सतारूढ़ भाजपा सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, भू-माफिया, वन माफिया, खनन माफिया व सरकार की मनमानी जैसे विभिन्न मुद्दों पर विस घेरी जाएगी।
उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार द्वारा हिमाचल के हितों को बेचा जा रहा है, धारा 118 के तहत गैर हिमाचलियों को जमीनें खरीदनें की अनुमति प्रदान की जा रही है। शिक्षा का व्यापारीकरण और निजीकरण हो रहा है। वन माफिया, भू-माफिया और खनन माफिया पूरी तरह सक्रिय है। इनके खिलाफ आवाज उठाने पर मात्र औपचारिकतापूर्ण कार्यवाही सरकार द्वारा की जाती है। लेकिन माफियों पर कोई शिकंजा नहीं कसा जा रहा है। बिजली के प्रोजेक्टों को निजी कंपनियों के हाथों बेचा जा रहा है। कौल ने कहा कि सरकार के खिलाफ इन मुद्दों को कांग्रे्रस पार्टी विधानसभा के अंदर उठाएगी और विस के बाहर सडक़ों पर उतरकर लड़ाई लड़ेगी।

कौल ने कहा कि प्रदेश सरकार बेवजह केंद्र सरकार पर भेदभाव का राग अलापती है। केंद्र सरकार हिमाचल को अधिक वितीय सहायता मुहैया करवा रही है। प्रदेश सरकार द्वारा भेजी डीपीआर की मंजूरी केंद्र से मिल रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार मनरेगा का पैसा खर्च करने में भी नाकाम रही है। कौल के अनुसार राज्य सरकार प्रथम वर्ष 655 करोड़, द्वितीय वर्ष 525 करोड़ और अंतिम वर्ष 415 करोड़ रूपये ही खर्च पाई। उन्होंने कहा कि खर्चा बढऩा चाहिए लेकिन साल दर साल सरकार खर्चा घटाती रही। कौल ने कहा कि आगामी विस चुनावों में भाजपा को हार का एहसास हो गया है। यही कारण है कि मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल पिछले दो महीनों से प्रदेश में ताबड़तोड़ घोषाणाएं करने में लगे हैं। कौल सिंह ने आरोप लगाया कि बजट के प्रावधानों के विपरीत सरकार घोषणाएं कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की परिवर्तन रैलियां पूरी तरह सफल रही हैं और अब हर जिले और चुनाव क्षेत्र में परिवर्तन रैलियों का आयोजन होगा।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि आगामी विस चुनावों के लिए जिताऊ प्रत्याशियों को ही टिकट दिया जाएगा। भले ही कोई व्यक्तिगत तौर पर कितना भी प्रभावशाली हो, मगर टिकट आवंटन में उसकी जीतने की क्षमता आंकी जाएगी। उन्होंने कहा कि कोटा सिस्टम के आधार पर टिकट आवंटन नहीं चलेगा। 24 अगस्त तक टिकटों की शिफारिशें राज्य कमेटी के पास पहुंचेंगी, जिन्हें कांट-छांट के उपरांत स्क्रीनिंग कमेटी को भेजा जाएगी। कौल ने कहा कि नई दिल्ली में 22 अगस्त सांय छह बजे मेनीफेस्टो कमेटी की बैठक होगी। संभव हुआ तो इसी दिन चार्जशीट राष्ट्रपति को सौंप दी जाएगी।