राजनीतिक गतिविधियों का अड्डा न बने धर्मशाला क्रिकेट स्टेडियम : राठौर

शिमला, 09 जुलाई।

बीते दिनों भाजपा युवा सम्मेलन के धर्मशाला क्रिकेट स्टेडियम में आयोजन को लेकर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने एतराज जताया है। प्रदेश कांग्रेस महासचिव कुलदीप राठौर ने आज यहां पत्रकार वार्ता में कहा कि प्रदेश में क्रिकेट का राजनीतिकरण हो रहा है। मैदान में सियासी गतिविधियों से साबित हो गया है कि स्टेडियम भाजपा के राष्ट्रीय नेताओं का पिकनिक स्थल व सैरगाह का अड्डा बनता जा रहा है। राठौर के अनुसार राजनीतिक गतिविधियों की बजाय सार्वजनिक कार्यक्रमों के लिए स्टेडियम प्रयोग में लाया जाना चाहिए।
कांगड़ा रैली में शांता-धूमल की जुगलबंदी पर सवाल उठाते हुए कांग्रेस महासचिव ने कहा कि शांता कभी प्रदेश सरकार पर भ्रष्टाचार के संगीन आरोप लगाते हैं, तो कभी हिलोपा नेताओं की बात पर भावुक हो जाते हैं, इससे लगता है कि वह अंर्तद्धंद्व के शिकार हैं। कांग्रेस का मानना है कि शांता कुमार मजबूरी व दबाव के चलते ऐसा कर रहे हैं तथा उनका बयान विरोधाभास पैदा करने वाला है।

बकौल राठौर प्रदेश में सतारूढ़ भाजपा सरकार के कार्यकाल के दौरा शिक्षा का व्यवसायिकरण रहा है। डेढ़ दर्जन निजी विवि खोले गए हैं और इनमें बिना यूजीसी के मापदंड के कोर्स चलाए जा रहे हैं। एक ओर राज्य शिक्षा नियंत्रण आयोग कुछ विश्वविद्यालयों को कारण बताओ नोटिस जारी करता है, वहीं दूसरी ओर सरकार द्वारा नए कोर्स शुरू करने की अनुमति प्रदान की जाती है। उन्होंने कहा कि सरकार और आयोग विपरीत दिशाओं में काम कर रहे हैं।
राठौर ने कहा कि भाजपा नेता प्रदेश में रोजगार उपलब्ध करवाने के गलत आंकड़े पेश कर जनता को गुमराह कर रहे हैं। यदि इनमें सच्चाई है तो सरकार श्वेतपत्र जारी करे। कांग्रेस की परिवर्तन रैलियों को सफल करार देते हुए राठौर ने कहा कि बरसात थमने पर शिमला में सोनिया गांधी की एतिहासिक रैली का आयोजन किया जाएगा।