मंत्री पद छोडने के बाद हिमाचल पहुंचे वीरभद्र सिंह

शिमला।

 केन्द्रीय मंत्री पद से त्याग पत्र देने के बाद वीरभद्र सिंह आज पहली बार हिमाचल पहुंचे। वीरभद्र सिंह करीब पौने वाहर वजे शताब्दी से कालका रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। जहां पर पहले से मौजूद उनके सर्मथकों ने उनका स्वागत किया।

इसके बाद वीरभद्र सिंह का उनके सर्मथकों ने परमाणु वैरियर पर स्वागत किया। यहंा पर उनके सर्मथक विधायक और कार्यकर्ता काफी संख्या में मौजूद थे। उनके स्वागत में कांग्रेस विधायक सुजान सिंह पठानियां, सुभाष मंगलेट, मुकेश अग्रिहोत्री, सोहन लाल, नंद लाल, सुधीर शर्मा और गंगू राम मुसाफिर सहित कई विधायक शमिल थे। इसके अतिरिक्त कई पूर्व कांग्रेस विधायक व पूर्व मंत्री भी उनके स्वागत में परवाणु पहुंचे हुए थे।

परवाणु से शिमला तक वीरभद्र सिंह के  सर्मथको ने उनका जगह जगह स्वागत किया। परवाणु के बाद जावली, धर्मपुर, वडोग, सोलन, चंवाघाट, कण्डाघाट व शोघी में वीरभद्र सिंह का गर्मजोशी से स्वागत किया गया।

शोघी पहुंचने पर शिमला जिला ग्रामीण कमेटी ने उनका स्वागत किया। इस अबसर पर वीरभद्र सिंह ने कहा कि वे हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस को वापिस सत्ता में लाएं गए। उन्होंने कहा कि वह भ्रष्टाचार के मामले से पाक साफ होकर निकलेंगे। इस दौरान उनके काफिले में भारी संख्या में गाडिय़ां शामिल थी। शोघी में जनसभा करने के बाद वीरभद्र सिंह सीधे मण्डी व कुल्लू के लिए रवाना हो गए। सोमवार को कुल्लू में राहुल गांधी के आने का कार्यक्रम है। गांधी कुल्लू में दो दिनों तक कांग्रेसी नेताओं व पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे।
वीरभद्र सिंह का शोघी पधारने ढोल नगाड़ों व फूल मालाओं सहित भव्य स्वागत किया गया। उपस्थित जन समूह को संबोधित करते हुए वीरभद्र ङ्क्षसह ने कहा कि उन्हें चुनाव का दायित्व सौंपने के लिए सोनिया गांधी का आभारी हंू और राहुल गांधी का भी इसके लिए हार्दिक धन्यावाद करता हुं। मुझे जो चुनाव की जिम्मेदारी सौंपाी गई है। उसे वह बाखुबी निभाएंगे और प्रदेश में दुबारा कांगे्रस को सत्ता होगी।