पशु चिकित्सकों के पद भरने के लिए अभिभावक मुख्यमंत्री से मिले

मंडी। हिमाचल प्रदेश बेराजगार स्नातक एवं (विशेषज्ञ) स्नातकोतर पशु चिकित्सकों के अभिभावकों ने अनुबंध के आधार पर रोजगार देने की मांग की है। अभिभावकों का एक प्रतिनिधिमंडल मनोहर ठाकुर, आर के कौशिक, भगत राज कश्यप, एम एस चन्देल, एच सी ठाकुर, एच एस जसवाल और आर के गुप्ता की अगुवाई में मुख्यमंत्री प्रो प्रेम कुमार धूमल से सुंदरनगर में मिला। प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंप कर रिक्त पडे 100 से अधिक पदों पर बेरोजगार पशु चिकित्सकों को अनुबंध के आधार पर अविलंब रोजगार मुहैया करवाने की मांग की है। अभिभावकों का कहना था कि 2007 के बाद निकले बेरोजगार पशु चिकित्सकों की बढती आयु और निजी क्षेत्र में रोजगार उपल्बध न होने के कारण इनकी मानसिक और आर्थिक हालत डगमगा गई है। अभिभावकों ने आग्रह किया है कि पशु चिकित्सकों के रिक्त पदों को 50 प्रतिशत बैच द्वारा, सीधी भर्ती से अनुबंध या नियमित तौर से भरा जाए।