दूरदराज और दुर्गम इलाकों में तैनात चिकित्सकों की प्रोत्साहन राशि बढ़ी

शिमला, 09 जुलाई।

प्रदेश सरकार ने राज्य के दूरदराज और दुर्गम इलाकों में सेवा दे रहे चिकित्सकों की प्रोत्साहन राशि में वृद्वि की है। प्रदेश मंत्रिमंडल की आज यहां आयोजित बैठक में रोगी कल्याण समिति/अनुबंध आधार पर कार्यरत चिकित्सा विशेषज्ञों और चिकित्सा अधिकारियों ी प्रोत्साहन राशि में संशोधन करने का निर्णय लिया गया।

चम्बा जि़ला के पांगी और पूह क्षेत्र तथा शिमला जि़ला के डोडरा क्वार उपमण्डल में तैनात चिकित्सक विशेषज्ञों को प्रतिमाह 25 हजार रुपये का विशेष प्रोत्साहन राशि मिलेगी। किन्नौर (पूह तहसील तथा हंगरंग उप-तहसील को छोडक़र), चम्बा जि़ला के भरमौर उप-मण्डल, शिमला जि़ला के चौपाल, चौहारा (डोडरा क्वार को छोडक़र), सिरमौर जि़ला के संगड़ाह व शिलाई विकास खण्ड, कुल्लू जि़ला के आनी विकास खण्ड, चम्बा जि़ला के तीसा और कांगड़ा जि़ला के मुल्थान एवं बड़ा भंगाल क्षेत्रों में तैनात इन विशेषज्ञ चिकित्सकों को प्रतिमाह 20 हजार रुपये का विशेष प्रोत्साहन दिया जाएगा।

इसके अतिरिक्त सिरमौर जि़ले के शिलाई विकास खण्ड, शिमला जि़ला के जुब्बल कोटखाई, चम्बा जि़ला के सलूणी, शिमला जि़ला के रोहड़ू और ननखड़ी तथा मण्डी जि़ला के करसोग विकास खण्डों में तैनाती पर प्रोत्साहन राशि के रूप में 15 हजार रुपये देय होंगे।

रोगी कल्याण समिति/अनुबंध के आधार पर तैनात चिकित्सा अधिकारी (एमबीबीएस) भी विशेष प्रोत्साहन के पात्र होंगे। पांगी उप-मण्डल, समूचा लाहौल एवं स्पीति जि़ला, किन्नौर जि़ले के पूह क्षेत्र और शिमला जि़ला के डोडरा क्वार में कार्यरत चिकित्सा अधिकारियों को 15 हजार रुपये का विशेष प्रोत्साहन देय होगा। इसके अतिरिक्त उपरोक्त वर्णित क्षेत्रों में चिकित्सा अधिकारियों को विशेष प्रोत्साहन के रूप में 10 हजार रुपये देय होंगे। मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने बैठक की अध्यक्षता की।
बैठक में हमीरपुर जि़ले के टौणी देवी में नई तहसील खोलने तथा कांगड़ा जि़ले की मुल्थान (छोटा भंगाल) उप-तहसील को स्तरोन्नत कर पूर्ण तहसील बनाने का निर्णय लिया गया। मण्डी जि़ले के सरकाघाट उपमण्डल के टीहरा, कांगड़ा जि़ला के देहरा उपमण्डल के नगरोटा सूंरियां तथा सोलन जि़ले के अर्की उपमण्डल के दाड़लाघाट में उप तहसीलें खोलने का निर्णय लिया गया। मंत्रीमण्डल ने जि़ला बिलासपुर के श्री नैनादेवी जी विधानसभा क्षेत्र के स्वारघाट में नया विकास खण्ड सृजित करने तथा इसे क्रियाशील बनाने के लिए विभिन्न श्रेणियों के नौ पद सृजित करने का निर्णय लिया।

बैठक में शिमला जि़ला के दूरदराज एवं दुर्गम क्षेत्र डोडरा क्वार तथा कांगड़ा जि़ला के बड़ा भंगाल क्षेत्र में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत स्थापित दुकानों से राशनकार्ड धारक परिवार के प्रत्येक सदस्य को आठ किलोग्राम खाद्यान्न/गेहूं का आटा उपलब्ध करवाने को स्वीकृति प्रदान की गई। बीपीएल/एपीएल तथा अन्तयोदय परिवारों पर लागू 35 किलोग्राम की शर्त में छूट प्रदान की गई है।

मंत्रीमण्डल ने निर्णय लिया कि प्रत्येक राशनकार्ड धारक को साल में एक बार उचित गुणवत्ता का पर्यावरण मित्र कैरी बैग उपलब्ध करवाया जाएगा ताकि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत खाद्यान्न एवं अन्य वस्तुएं इस बैग में ले जाई जा सकें।

बैठक में हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड को जि़ला स्तर पर क्रियाशील बनाने के लिए विभिन्न श्रेणियों के 84 पद सृजित कर भरने को, बोर्ड मुख्यालय को सुदृढ़ करने के लिए नौ अतिरिक्त पद भरने की स्वीकृति प्रदान की गई। कांगड़ा जि़ला की जसवां तहसील में राजकीय डिग्री कॉलेज कोटला को क्रियाशील बनाने के लिए विभिन्न अध्यापन एवं गैर अध्यापन श्रेणियों के 13 पद भी सृजित किए गए। बैठक में लोक निर्माण विभाग में अधीक्षक ग्रेड-1 के तीन, सुपरन्यूमरेरी पद सृजित करने का निर्णय लिया गया।

बैठक में राज्य की विभिन्न जेलों में सजा काट रहे चार मुजरिमों को दया याचिका मामलों के तहत समय पूर्व छोडऩे का निर्णय लिया गया।
मंत्रीमण्डल ने गौतम गल्र्ज कॉलेज प्रबन्धन समिति हमीरपुर तथा विद्यावती मैमोरियल एजुकेशन सोसायटी नूरपुर जि़ला कांगड़ा के पक्ष में जीएनएम/बीएससी नर्सिंग पाठ्यक्रम आरम्भ करने के लिए अनापत्ति प्रमाणपत्र जारी करने का निर्णय लिया।