अवैध ढारों पर माकपा की वोट वैंक की राजनीति : भाजपा

शिमला।

भाजपा शिमला मंडल के सचिव विटटू कुमार, भाजपा पार्षद सरोज ठाकुर, रजनी और भाजपा कार्यकर्ताओं ने सोमवार को जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में शिमला नागरिक सभा के उन आरोपों को सिरे से खारिज किया है, जिसमें उन्होंने भाजपा के पार्षदों द्वारा नगर निगम में ढारों को लीज पर देने के प्रस्ताव का विरोध किया था। भाजपा नेताओं ने कहा कि उन्होंने ढारों को लीज पर देने का विरोध नहीं किया बल्कि नागरिक सभा और माकपा की नीयत का विरोध किया।

उन्होंने आरोप लगाया कि माकपा, नागरिक सभा का उपयोग कर वोट हासिल करने के लिए इस विषय को उठा रही है। भाजपा नेताओं ने कहा कि ढारों को नियमित करने का प्रस्ताव तो नगर निगम में पहले ही पास हो चुका है। भाजपा अवैध ढारों को राजीव आवास योजना के अन्तर्गत जल्द से जल्द नियमित करना चाहती है जिसके लिए प्रदेश सरकार ने 33 करोड़ रूपये की डीपीआर केन्द्र को मंजूरी के लिए भेजी है जिससे की गरीब लोगों के अवैध ढारे नियमित हो सकें और उन्हें उनका मालिकाना हक मिल सके।

उन्होंने कहा कि नागरिक सभा और माकपा में कोई फर्क नहीं है दोनों संगठन एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। माकपा ने हमेशा लोगों की जनभावनों के साथ खिलबाड़ किया है और उन्हें भाजपा के खिलाफ बरगला कर उनके पार्षदों को बदनाम करने का षडयन्त्र रच रहे हैं। माकपा और शिमला नागरिक सभा शहर की अन्य समस्याओं पानी, सफाई, सिवरेज तथा अन्य मूलभूत सुविधाएं का निपटारा न कर पाने के कारण लोगों का ध्यान इन मुद्दों से हटाना चाहती है।