प्रदेश सरकार ने क्रीमी लेयर की सीमा 2.5 लाख से 4.5 लाख की

शिमला, 02 जून  ।

प्रदेश सरकार ने अन्य पिछड़ा वर्गांे के और अधिक लाभार्थियों को विभिन्न सरकारी योजनाओं के लाभ प्रदान करने के उद्देश्य से क्रीमी लेयर की सीमा 2.5 लाख रुपये से बढ़ाकर 4.5 लाख रुपये की है। मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने हिमाचल प्रदेश अन्य पिछड़ा वर्ग कल्याण बोर्ड की आज यहां आयोजित 7वीं बैठक की अध्यक्षता करते हुए यह जानकारी दी।
उन्होंने कहा कि क्रीमी लेयर में वृद्धि किए जाने से इन समुदायों के और अधिक लोग विभिन्न योजनाओं का लाभ उठाने के पात्र बनेंगे। अन्य पिछड़ा वर्ग के अधिकांश लाभार्थियों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के दायरे में शामिल किया गया है। राज्य में अब 2,77,817 पेंशनधारकों को 400 रुपये प्रति माह की दर से पेंशन प्रदान की जा रही है जिनमें 1,04,156 नए मामले हैं जिन्हें वर्तमतान भाजपा सरकार ने स्वीकृत किया है। वर्तमान वित्त वर्ष के दौरान अन्य पिछड़ा वर्ग के कल्याण पर विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत 6.15 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि सरकारी क्षेत्र में प्रथम और दूसरी श्रेणी की सीधी भर्तियों में अन्य पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों को 12 प्रतिशत जबकि तृतीय व चतुर्थ श्रेणी में 18 प्रतिशत आरक्षण प्रदान किया जा रहा है। इससे इन समुदायों के शिक्षित युवाओं को रोजग़ार के पर्याप्त अवसर मिल रहे हैं।
इससे पहले धूमल ने कबीर पंथी कल्याण बोर्ड की 9वीं बैठक की अध्यक्षता की। उन्होंने कहा कि अनुसूचति जाति के लाभार्थियों को आवास निर्माण के लिए मिलने वाला अनुदान बढ़ाकर 48,500 रुपये किया गया है। इस वित्त वर्ष के दौरान 3353 लाभार्थियों को 16.27 करोड़ रुपये का अनुदान आवंटित किया जाएगा।