पेयजल आपूर्ति एवं सिचंाई योजनाओं पर 2000 करोड़ रुपये व्यय : धूमल

शिमला, 29 जून।

मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि राज्य सरकार इस वित्त वर्ष में विभिन्न सिंचाई एवं पेयजल आपूर्ति योजनाओं पर 2000 करोड़ रुपये व्यय कर रही है। मुख्यमंत्री आज सोलन जिले के दाड़लाघाट में एक विशाल जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे।

इससे पूर्व उन्होंने दाड़लाघाट में 29 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली पेयजल आपूर्ति योजना की आधारशिला रखी। इस योजना के लिए गंभर नदी से पानी उठाया जाएगा और इससे क्षेत्र की 40 हजार जनसंख्या लाभान्वित होगी। उन्होंने 1.34 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की आधारशिला भी रखी। उन्होंने दाड़लाघाट में सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग के नए उपमण्डल का लोकार्पण भी किया।

सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य मंत्री रविन्द्र सिंह रवि ने कहा कि विभाग की 8011 योजनाओं में से 2500 पेयजल योजनाएं हैं। उन्होंने कहा कि 15 बड़ी सिचंाई परियोजनाओं का कार्य निष्पादित किया जा रहा है और वर्तमान वित्त वर्ष के दौरान 2500 हैंडपम्प स्थापित करने का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि अर्की विधानसभा क्षेत्र में 740 हैंडपम्प स्थापित किए गए हैं और लोगों की मांग पर अन्य हैंडपम्प स्थापित किए जाएंगे।