केंद्र से विद्यार्थियों के लिए दूरी भत्ता जारी करने की मांग

शिमला, 06 मई।

हिमाचल ने केंद्र सरकार से मांग की है कि दूरदराज के क्षेत्रों से आने वाले विद्यार्थियों को दूरी भत्ता दिया जाए। शिक्षा मंत्री आई.डी. धीमान ने नई दिल्ली में आयोजित राज्यों के शिक्षा मंत्रियों के सम्मेलन में भाग लेते हुए कहा कि भौगोलिक रूप से दुर्गम तथा कठिन क्षेत्र होने के कारण अधिकतर लोगों के निवास स्थान बिखरे हुए हैं। प्रारम्भिक शिक्षा के लक्ष्य को पूरा करने के लिए ऐसे बच्चों को दूरी भत्ता दिए जाने का प्रावधान होना चाहिए।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्रदेश में उच्च स्तर शिक्षा में नामांकन स्तर 18 प्रतिशत से अधिक है, जो देश में सबसे अधिक है। प्रदेश में शिक्षकों के रिक्त पद तीन प्रतिशत से भी कम हैं जिन्हें शीघ्र भरने के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 99.4 प्रतिशत बच्चे स्कूलों में शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। शिक्षा का अधिकार अधिनियम की धारा 12 के तहत 25 प्रतिशत कमजोर वर्ग तथा वंचित समूह के छात्रों को निजी स्कूलों में प्रवेश देने का प्रावधान है।

धीमान ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा इस शैक्षणिक सत्र में सरकारी स्कूलों में पढऩे वाले कक्षा एक से दसवीं तक सभी बच्चों को ‘अटल स्कूल यूनिफार्म योजना’ के अन्तर्गत मुफ्त वर्दी उपलब्ध करवाई जा रही है।