कर्मचारियों को 6500 करोड़ रूपये के लाभ प्रदान

शिमला।

मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि प्रदेश सरकार ने अपने कर्मचारियों को गत चार वर्षों में वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू कर और देय भत्तों का भुगतान कर 6500 करोड़ रुपये से अधिक के वित्तीय लाभ प्रदान किये हैं। मुख्यमंत्री गत सायं चम्बा के निकट उदयपुर ग्राम पंचायत में 328.25 लाख रुपये की अनुमानित लागत से बनने वाली सारू-चीमा-उदयपुर संवद्र्धित जलापूर्ति योजना के शिलान्यास के अवसर पर लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। इस योजना से क्षेत्र की दो ग्राम पंचायतों की 16 बस्तियों की तीन हजार से अधिक जनसंख्या लाभान्वित होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार के सत्तासीन होने पर दिहाड़ीदारों की दिहाड़ी 75 रुपये से बढ़ाकर 100 रुपये की गई और अब इसे बढ़ाकर 130 रुपये किया गया है। सामाजिक सुरक्षा पेंशन को भी 200 रुपये से बढ़ाकर 300 रुपये और अब 400 रुपये किया गया है। अटल स्वास्थ्य सेवा तथा नि:शुल्क संस्थागत प्रसूति के अन्तर्गत नि:शुल्क एम्बुलेंस सेवा के माध्यम से कई बहुमूल्य जीवन बचाए गए हैं। इन सभी सुविधाओं से लोगों को सहायता प्रदान की गई है तथा मूल्य वृद्धि, जो केन्द्र का विषय है और प्रदेश सरकार के नियंत्रण से परे है, से भी लोगों को राहत प्रदान की गई है।

मुख्यमंत्री ने चम्बा में एनजीओ भवन के निर्माण को पूरा करने के लिए 10 लाख रुपये स्वीकृत किए। मुख्यमंत्री गत दिवस चम्बा में भी अराजपत्रित कर्मचारियों को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने संघ के सदस्यों को आश्वासन दिया कि जुलाई माह में संभावित संयुक्त सलाहकार समिति की अगली बैठक में उनकी मांगों को पूरा करने के लिए गंभीर प्रयास किए जाएंगे।