हिमाचल सरकार ने स्वीकृत वार्षिक योजना से अधिक धनराशि विकास कार्यों में लगाई

शिमला, 22 मई ।

प्रदेश सरकार ने विभिन्न विकास गतिविधियों पर स्वीकृत योजना से अधिक खर्च किया है ताकि लोग इनसे लाभान्वित हो सकें। प्रदेश के लिए मंजूर वार्षिक योजना से 200 करोड़ अधिक धनराशि सरकार ने विकास कार्यों पर व्यय की है।
प्रदेश सरकार के एक प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि राज्य सरकार ने वर्ष 2011-12 में विकास गतिविधियों पर अधिक धनराशि खर्च की है। इस दौरान 3300 करोड़ रुपये की वार्षिक योजना स्वीकृत की गई थी, जबकि सम्बन्धित विभागों से प्राप्त व्यय के आंकड़ों के अनुसार कुल 3600 करोड़ से अधिक की धनराशि खर्च की गई है।

 

उन्होंने बताया कि योजना के अन्तर्गत कुछ विभागों में जो धनराशि ‘सरेंडर’ की गई है वह कुछ विभागों द्वारा की गई बचत के कारण है। इसे उन विभागों को मांग के अनुसार आबंटित कर दिया था, जिन्हें इनकी आवश्यकता थी ताकि विकास गतिविधियां सुचारू रूप से चलती रहें।