हिमाचल देश का पहला धूम्रपान मुक्त राज्य : धूमल

शिमला, 31 मई  ।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हिमाचल प्रदेश को देश का पहला धूम्रपान मुक्त राज्य घोषित किया है। मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने आज यहां आयोजित राज्य स्तरीय ‘विश्व तम्बाकू निषेध दिवस’ समारोह के अवसर पर यह जानकारी दी। उन्होंने इस मौके पर तम्बाकू और इसके उत्पादों के दुष्प्रभावों का संदेश देती युवाओं की मोटर बाईक रैली को रवाना किया। उन्होंने तम्बाकू सेवन से दूर रहने और इसके प्रतिकूल प्रभावों के बारे में जागरुकता पैदा करने के उद्देश्य से निकाली गयी विद्यार्थियों की रैली को भी रवाना किया।

धूमल ने कहा कि दो वर्ष पहले राजधानी शिमला को धूम्रपान मुक्त घोषित किया गया था, जबकि कांगड़ा जिला के ताशीजॉंग गांव को प्रदेश का पहला तम्बाकू मुक्त गांव घोषित किया गया है। सार्वजनिक स्थलों पर तम्बाकू उत्पादों के प्रयोग पर पूर्ण पाबंदी लगाई गई है और इनके विज्ञापन लगाने पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में तम्बाकू उत्पादों की बिक्री पर पाबंदी लगाई गई है। तम्बाकू और इसके अन्य उत्पादों पर वैट भी बढ़ाया गया है।

धूमल ने कहा कि तम्बाकू के सेवन से प्रति वर्ष 54 लाख लोग अपनी जान गंवा रहे हैं, जिनमें से आठ से नौ लाख लोग भारत के हैं। हिमाचल प्रदेश में 38.5 प्रतिशत पुरुष और 3.7 प्रतिशत महिलाएं तम्बाकू उत्पादों का सेवन करती हैं। गले और मुंह के कैंसर के 90 प्रतिशत मामले तम्बाकू सेवन के कारण ही सामने आ रहे हैं।