वीरभद्र सिंह से रिश्तेदारी निभा रहे हैं महेश्वर सिंह : भाजपा

 शिमला,15 मई।

भारतीय जनता पार्टी प्रदेश महामंत्री चन्द्रमोहन ठाकुर ने हिलोपा पार्टी के संस्थापक महेश्वर सिंह के उस बयान की कड़ी निन्दा की है जिसमें उन्होंने जेपी प्रकरण पर मुख्यमंत्री प्रो0 प्रेम कुमार धूमल से इस्तीफा मांगा है। मंगलवार को शिमला से जारी एक बयान में चन्द्र मोहन ठाकुर ने कहा है कि जे0पी0 प्रकरण पर महेश्वर सिंह को कोई जानकारी नहीं है अन्यथा वह मुख्यमंत्री से इस्तीफा नहीं मांगते उन्हें केन्द्रीय मंत्री वीरभद्र सिंह का इस्तीफा मांगना चाहिए था जिनके कार्यकाल के दौरान ही जे0 पी0 धर्मल प्लॉट लगाने की मंजूरी दी गयी थी। महेश्वर सिंह केन्द्रीय मंत्री वीरभद्र सिंह से रिश्तेदारी के चलते इस्तीफा नहीं मांग रहे है तथा वीरभद्र सिंह के इशारों पर ही भाजपा पर अन्तर्गत आरोप लगा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि महेश्वर सिंह व राजन सुशान्त प्रदेश में राजनैतिक माहौल बिगाडऩे का घिनौना प्रयास कर रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी की बदौलत इन नेताओं ने राजनैतिक शिखर को छुआ है परन्तु जब इनके निजी स्वार्थों की पूर्ति नहीं हुयी तबसे बेवजह पार्टी को निशाना बना रहे हैं।

चन्द्रमोहन ठाकुर ने कहा है क् िउत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की राह पर चल निकले महेश्वर सिंह को अब राजनैतिक तौर पर कुछ हासिल होने वाला नहीं है वह सिर्फ निजी खुन्नस के चलते मुख्यमंत्री प्रो0 प्रेम कुमार धूमल पर आरोप लगा रहे हैं।

चन्द्र मोहन ठाकुर ने कहा कि महेश्वर सिंह भी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रहे परन्तु वह पार्टी को सत्ता तक नहीं पहुॅंचा सके उनमें कुशल नेतृत्व की कमी थी जिसके कारण उनके कार्यकाल में पार्टी का जनाधार नहीं बढ़ा । मुख्यमंत्री प्रो0 प्रेम कुमार धूमल की ‘‘ आशातीत सफलता’’ पर महेश्वर सिंह के मन में ईष्र्या उपजी है और इसी ईष्र्या के कारण उन्होंने पार्टी छोड़ी है।