रिश्वतखोर जेई को विजिलेंस ने दबोचा

शिमला, 01 मई । 

हिमाचल प्रदेश राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने मंगलवार को हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड लिमिटेड के चौपाल में तैनात कनिष्ठ अभियंता धनी राम बरागटा को 25 हजार की रिश्वत लेने के आरोप में गिरतार किया। एक निजी कंपनी भारती एयरटेल के एक प्रतिनिधि की शिकायत के आधार पर उन्हें पकड़ा गया है। ब्यूरों के शिमला स्थित पुलिस थाना में आरोपी कनिष्ठ अभियंता के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार भारती ऐयरटेल के एक प्रतिनिधि ने ब्यूरो में शिकायत की थी कि चौपाल में तैनात कनिष्ठ अभियंता उनसे टावर के लिए बिजली के कुनैक्शन देने के लिए साईट का निरिक्षण करने तथा प्राक्लन तैयार करने के ऐवज में रिश्वत मांग रहा है। रिश्वत के पैसों को कनिष्ठ अभियंता ने अपने बेटे के बैंक ऐकाउंट में जमा करने को कहा था।

डीआईजी राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो हिमांशू मिश्रा ने कहा कि ब्यूरो की विशेष टीम ने आज धनी राम बरागटा को उनके चौपाल कार्यांलय से गिरतार किया है। उनके खिलाफ ब्यूरो जांच कर रहा है।