प्रदेश सरकार की घोषणाओं को चुनावों से पहले पूरा करना पहला लक्ष्य : मुख्य सचिव

शिमला, 10 मई।

प्रदेश के मुख्य सचिव सुदृप्तो राय ने कहा है कि उनका पहला लक्ष्य प्रदेश सरकार द्वारा की गई घोषणाओं को पूरा करना है। प्रदेश सरकार द्वारा की गई घोषणाओं, शिलान्यास को आगामी विधानसभा चुनावों से पहले पूरा करने का प्रयास किया जाएगा।

सचिवालय में गुरूवार को बतौर मुख्य सचिव पहली बार पत्रकारों से रूबरू होते हुए सुदृप्तो राय ने कहा कि पिछले कल से आरंभ हुई अटल युनिफार्म योजना का कार्य उनकी अध्यक्षता में बनी एक कमेटी द्वारा किया गया। इस योजना को निर्णय लेने के बाद बहुत कम समय में लागू किया गया है। हालांकि उन्होंने स्वीकार किया कि अटल वर्दी योजना के टैंडर संबंधी मामला न्यायालय में जाने से यह योजना एक माह देरी से शुरू हुई है।

मुख्य सचिव ने कहा कि वे काफी अर्से तक केंद्र में प्रतिनिधित्व के तौर पर रहे हैं तथा केंद्र की सारी योजनाओं की उन्हें अच्छी जानकारी है। इससे केंद्र की योजनाओं को प्रदेश में लाने में उन्हें मदद मिलेगी। बकौल मुख्य सचिव उनका उदद्ेश्य सारे प्रदेश को साथ लेकर चलना है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक काम में पारदर्शिता होनी चाहिए और इसे वे सख्ती से लागू करेंगे। जहां पारदर्शित को लेकर उलंघन का मामला सामने आएगा, वहां कड़ा निर्णय लेने में नहीं हिचकिचाएंगे।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कई सुधारों की आवश्यकता है। राजस्व तंत्र में सुधार की आवश्यकता है जिससे बेनामी सौदों को रोकने में सहायता मिलेगी। उन्होंने हिमाचल को ग्रीन बोनस मिलने की वकालत की। मुख्य सचिव ने माना कि प्रदेश में अधिकारियों की एसीआर लिखने का तरीका काफी पुराना है और समय के साथ इसमें बदलाव करने की आवश्यकता है। उन्होंने आने वाले समय में इसमें बदलाव करने के संकेत दिए। 

उन्होंने कहा कि प्रदेश में आईएएस अधिकारियों की कमी है जो कि अगले साल तक पूरी होगी। बदलते समय के साथ पर्यावरण जैसे नए विभाग भी अस्तित्व में आए हैं जिससे अधिकारियों की मांग बढ़ी है। प्रशासनिक सुधारों पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि कृषि, बागवानी व पशुपालन जैसे विभाग एक ही अधिकारी के पास होने चाहिए ताकि विभागीय कामकाज में परेशानी न हो। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों को समय-समय पर ट्रेनिंग दिए जाने पर बल दिया।