प्रदेश में कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बेहतर : धूमल

शिमला, 23 मई।

मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि प्रदेश में कानून एवं व्यवस्था की स्थिति देश भर में श्रेष्ठ है। मुख्यमंत्री आज यहां गृह विभाग की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पुलिस बल का आधुनिकीकरण किया है और किसी भी प्रकार की स्थिति से निपटने के लिए सुविधाएं प्रदान की हैं। पुलिस बल के 122 वाहनों में ग्लोबल पोजीशनिंग सिस्टम लगाया गया है, 58 डोप्लर राडार लगाए गए हैं और क्षेत्रों में कार्यरत कर्मियों को 121 अल्कोहल सेंसर उपलब्ध करवाए गए हैं ताकि यातायात नियमों को तोडऩे वालों पर नजर रखी जा सके।

धूमल ने कहा कि पुलिस थाना स्तर पर जल शिकायतों के निपटारे के लिए 15 दिन, उपमण्डल स्तर पर 21 दिन और जिला स्तर पर 30 दिन की समयावधि निर्धारित की गई है। दुर्घटना से सम्बन्धित मामलो के निपटारे के लिए एक महीना, विशेष मामलो के लिए तीन महीने और अन्य के लिए 6 महीने निर्धारित की गई है। शिकायतों के पंजीकरण के लिए एसएमएस सेवा आरम्भ करने में हिमाचल प्रदेश देश भर में अग्रणी है। अभी तक एसएमएस सेवा के माध्यम से 70 मामले पंजीकृत किए गए हैं।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी 100 पुलिस थानों को इंटरनेट से जोड़ा गया है और यहां वैब आधारित सेवाएं उपलब्ध हैं। इस क्षेत्र में भी हिमाचल प्रदेश को देश में प्रथम स्थान हासिल हुआ है। ऑन लाइन यातायात सेवाएं भी आरम्भ की जा रही हैं। धर्म परिवर्तन से सम्बन्धित शिकायतों पर विशेष गौर किया जा रहा है। जेलों में वीडियों कांफ्रेंसिग सुविधा उपलब्ध करवाने के प्रयास किए जा रहे हैं।