ट्रेन से फेंके गए फ्रांसीसी नागरिक की मौत

 

करनाल। गत 29 अप्रैल को यात्रियों के साथ विवाद के बाद सचखंड एक्सप्रेस से फेंक दिए गए फ्रांसीसी नागरिक फ्रैंक विलफर्ड की चंडीगढ़ पीजीआइ में मौत हो गई। करनाल स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर से उसे पहले सिविल अस्पताल फिर पीजीआइ ले जाया गया था। इस मामले में ट्रेन के टीटीई को गिरफ्तार कर पुलिस पूछताछ कर रही है। टीटीई दो दिन के रिमांड पर करनाल। सचखंड एक्सप्रेस में फ्रांसिसी नागरिक के साथ मारपीट कर करनाल के रेलवे स्टेशन पर फेंकने के मामले में गिरफ्तार किए गए टीटीई मनोज को जीआरपी ने अदालत में पेश कर दो दिन के रिमांड पर लिया है। पीजीआइ में भर्ती विदेशी नागरिक की पहचान फ्रांस के लाब्रेस शहर के फ्रेंक विलफर्ड के रूप में हुई है। सूचना मिलते ही दिल्ली स्थित फ्रांस दूतावास के अधिकारियों ने पीजीआइ चंडीगढ़ व जीआरपी के आला अधिकारियों से संपर्क साधा। इस वारदात से अधिकारियों में हडक़ंप मच गया और जीआरपी ने टीटीई मनोज को गिरफ्तार कर लिया। तफ्तीशी अधिकारी हवा सिंह के अनुसार उन यात्रियों को भी गिरफ्तार किया जाएगा, जिन्होंने फ्रेंक विलफर्ड के साथ मारपीट कर फेंका था। –

यह था मामला

करनाल रेलवे स्टेशन पर शनिवार को विदेशी नागरिक को सचखंड एक्सप्रेस में मारपीट कर फेंक दिया था। टिकट मांगने पर विदेशी नागरिक ने अमृतसर हेड क्वार्टर के टीटी मनोज को थप्पड़ मारा था। इसी दौरान उसने एक महिला से छेड़छाड़ की तो यात्रियों ने पीटकर स्टेशन पर फेंक दिया था। -एस-4 बागी में सवार था विलफर्ड फ्रांसिसी नागरिक फ्रेंक विलफर्ड दिल्ली से सचखंड एक्सप्रेस के एस-4 बागी में सवार हुआ था। टीटीई मनोज की ड्यूटी एस-4, एस-5 व एस-6 बागी में लगी थी। जीआरपी ने रेलवे विभाग से सचखंड एक्सप्रेस के एस-4 बागी में सवार यात्रियों की लिस्ट मांगी है। उसके बाद सभी यात्रियों को हिरासत में लिया जाएगा ताकि उन लोगों की पहचान कराई जा सके जिन्होंने फ्रेंक विलफर्ड के साथ मारपीट की थी। पुलिस इस बात की भी जांच करेगी कि मारपीट के कारण क्या रहे।