जैविक खेती के लिए 25 हजार किसानों का पंजीकरण

North Gazette News/ Shimla
प्रदेश सरकार जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए प्रयासरत है। प्रदेश में 25 हजार किसान जैविक खेती के लिए पंजीकृत किए जा चुके हैं, जिनमें से 2040 किसानों को प्राधिकृत प्रमाणीकरण एजेंसियों ने मान्यता प्रदान की है।
उक्त जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने बताया कि किसानों एवं उपभोक्ताओं में जैविक उत्पाद को लोकप्रिय बनाने के लिए शिमला में जून माह के दौरान जैविक मेले एवं खाद्यान्न महोत्सव का आयोजन किया जाएगा।

आज यहां कृषि विभाग के कार्यों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए धूुमल ने बताया कि राज्य में 12500 हेक्टेयर कृषि क्षेत्र को जैविक कृषि के तहत लाया गया है और प्रदेश सरकार जनजातीय क्षेत्र को राज्य का जैविक अंचल घोषित करने पर विचार करेगी। गत वित्त वर्ष के दौरान प्रदेश में 4,09,114 केंचुआ खाद इकाइयां पहले ही स्थापित की जा चुकी हैं।
किसानों को प्रशिक्षित करने के लिए सोलन में जैविक तकनीक पर प्रदर्शन उद्यान स्थापित किया गया है। प्रदेश में जैविक कृषि करने वाले किसानों को उचित विपणन सुविधाएं सुनिश्चित करने के दृष्टिगत प्रदेश सरकार जैविक उत्पाद के विपणन के लिए उचित स्थान की संभावनाओं का पता लगाएगी और किसानों को कृषि यंत्र की उपलब्धता भी सुनिश्चित करेगी।