चुनौतियों भरा है मेयर पद का ताज : माकपा

शिमला, 29 मई । शिमला नगर निगम में पहली दफा ऐतिहासिक जीत दर्ज करने के बाद माकपा ने नवनिर्वाचित मेयर संजय चौहान माना है कि मेयर के पद पर उनकी आगामी राह चुनौतियों भरी है। मंगलवार को पत्रकारों से रूबरू होते हुए चौहान ने कहा कि नगर निगम को जनता की सेवा करने वाला संस्थान बनाना और इसकी कार्यप्रणाली चुस्त-दुरूस्त करना उनकी पहली प्राथमिकता होगी।

उन्होंने कहा कि निगम के सभी सदस्यों के साथ समन्वय बनाकर जनता की समस्याओं को हल करने का प्रयास किया जाएगा। निगम में आर्थिक संकट दूर करने की जिम्मेदारी राज्य सरकार की है। उन्होंने उम्मीद जताई कि राज्य सरकार इस दिशा में सार्थक पहल करेगी। उन्होंने कहा कि नगर निगम की पहली आधिकारिक बैठक में इस मसले को सरकार के समक्ष उठाया जाएगा। उन्होंने कहा कि 74वें संविधान संशोधन को लागू करने की दिशा में प्रयास किया जाएगा।
इस अवसर पर माकपा नेता राकेश सिंघा ने कहा कि आर्थिक तंगी झेल रहे निगम को चलाना पार्टी के लिए कठिन डगर है। लेकिन पार्टी जनता के जनादेश पर खरा उतरने का प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि नगर निगम में राजनीतिक आधार पर राज्य सरकारों को भेदभाव नहीं करना चाहिए। केंद्र व राज्य सरकार को अपना रोल निभाते हुए निगम को ग्रांट देने की पहल करनी चाहिए।
उन्होंने कहा कि माकपा के नवनिर्वाचित मेयर और डिप्टी मेयर शहर की मूलभूत समस्याओं से निजात पाने पर विचार करेगी। सकारात्मक दृष्टिकोण अपनाते हुए जनता की सहमति से फैसले लिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि शहर में पेयजल किल्लत दूर करने जैसी समस्याओं पर पार्टी गंभीरता से विचार करेगी। इस मौके पर पार्टी के नवनिर्वाचित डिप्टी मेयर टिकेंद्र पंवर भी मौजूद थे।