कांग्रेस शहर में कराए विकास कार्यों का जबाव दे : माकपा

शिमला, 02 मई।

नगर निगम शिमला के चुनाव नजदीक आते ही सियासी दलों की सरगर्मियां तेज हो गई हैं। मेयर और डिप्टी मेयर के लिए पहली बार हो रहे सीधे चुनावों में अपने प्रत्याशियों का ऐलान करने के बाद माकपा ने कांग्रेस पार्टी पर जुबानी जंग तेज कर दी है।
माकपा के राज्य सचिव राकेश सिंघा ने निगम चुनावों में एकछत्र राज करने वाली कांग्रेस पार्टी पर शिमला शहर की समस्याओं को हल करने में नाकाम रहने का आरोप लगाया है। सिंघा ने बुधवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि निगम में वर्ष 1986 से लेकर अभी तक कांग्रेस का वर्चस्व रहा है। लेकिन शहर में जनसाधारण की सुविधा के लिए कोई योजना नहीं बन पाई है। पानी, स्ट्रीट लाइट, सफाई व एम्बूलैंस जैसे मुद्दों पर शहर वासियों को राहत नहीं मिली है। 30 साल तक राज करने वाली कांग्रेस जनता के प्रति अपनी जवाबदेही से नहीं बच सकती है।

उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि निगम चुनावों से पहले भाजपा से ज्यादा कांग्रेस को जनता के बीच जवाब देना होगा। भाजपा को भी आड़ हाथों लेते हुए सिंघा ने कहा कि सरकार की नवदारवाद नीतियों के चलते विकास चंद लोगों तक हो सका है। विकास की आम आदमी तक पहुंच की गुजारिश कम रह गई है।

सिंघा ने कहा कि नगर निगम चुनावों को माकपा पूरी गंभीरता से लेगी। पार्टी ने मेयर के लिए संजय चौहान और डिप्टी मेयर के लिए टिकेंद्र पंवर को उम्मीदवार बनाया है। 13 मई को पार्टी चुनावी घोषणा पत्र जारी करेगी। निगम के सभी 25 वार्डों पर प्रत्याशी खड़े किए जाएंगे। पार्टी 16 वार्डों पर अपने प्रत्याशियों को ऐलान कर चुकी है। उन्होंने कहा कि चुनावों में माकपा गैरभाजपा-कांग्रेस दलों से समर्थन का आग्रह करेगी।