हिमाचल में उद्यमियों को मिल रही सभी सुविधाएं : धूमल

शिमला, 27अप्रैल।

मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि राज्य सरकार हिमाचल प्रदेश में औद्योगिक निवेशकों को श्रेष्ठ सेवाएं उपलब्ध करवा रही है। राज्य में निवेशक मित्र वातावरण उपलब्ध करवाया गया है तथा औद्योगिक इकाइयां स्थापित करने के लिए प्रक्रिया सम्बन्धी समस्याओं को दूर किया गया है। धूमल ने शुक्रवार को बरोटीवाला नालागढ़ औद्योगिक क्षेत्र में बहुराष्ट्रीय कम्पनी जनरल केबल इंडिया की 200 करोड़ रुपये लागत की उत्पादन इकाई का शुभारम्भ करते हुए यह जानकारी दी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश देश का ऐसा पहला राज्य है, जहां औद्योगिक क्षेत्र में आवश्यकता के आधार पर प्रशासनिक इकाइयां स्थापित की गई हैं ताकि उद्यमियों को शीघ्र आवश्यक स्वीकृतियां प्राप्त हो सकें और उन्हें जिला तथा राज्य मुख्यालय तक आने-जाने में समय नष्ट न करना पड़े। उन्होंने कहा कि उद्यमियों की मांग पर ही बद्दी में अलग आबकारी एवं पुलिस जिला, तहसील, दवा नियंत्रक और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का कार्यालय खोला गया तथा बद्दी-बरोटीवाला नालागढ़ विकास प्राधिकरण स्थापित किया गया ताकि क्षेत्र का योजनाबद्ध विकास एवं उद्यमियों की आवश्यकताएं पूरी हो सकें।

उन्होंने कहा कि बद्दी में ट्रेड सेंटर भी स्थापित किया जा रहा है, जहां 35 करोड़ रुपये की लागत से नुकसानदेह कचरा प्रबन्धन प्लांट स्थापित किया जा रहा है। यहां औद्योगिक कचरे को वैज्ञानिक एवं पर्यावरण मित्र रूप से ‘प्रोसेस’ किया जाएगा। राज्य सरकार ने नई लगने वाली औद्योगिक इकाइयों को पहले पंाच वर्षों तक बिजली शुल्क में 5 प्रतिशत की छूट देने का निर्णय लिया है ताकि उद्यमी निवेश करने के लिए प्रोत्साहित हो सकें। उन्होंने कहा कि बद्दी को रज्जू मार्ग के माध्यम से कसौली से जोडऩे की संभावनाओं का पता लगाया जाएगा और इसमें निजी सहयोग का स्वागत होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा विशेष औद्योगिक पैकेज की घोषणा किए जाने के उपरांत राज्य में पंजीकृत की गई कुल औद्योगिक इकाइयों में से 34 प्रतिशत को गत चार वर्षों में स्वीकृत किया गया है। इन 34 प्रतिशत में कुल निवेश का 38 प्रतिशत तथा कुल रोजगार का 40 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि वर्तमान भाजपा सरकार के कार्यकाल में स्थापित की गई 49 प्रतिशत इकाइयों में पैकेज अवधि का 50 प्रतिशत रोजगार है।