‘हर गांव की कहानी’ के लिए पर्यटन निदेशक को मिला पुरस्कार

शिमला, 15 अप्रैल।

मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने हिमाचल दिवस के अवसर पर रविवार को जि़ला बिलासपुर के घुमारवीं उप-मण्डल के दूरदराज क्षेत्र घण्डीर में आयोजित राज्य स्तरीय समारोह में खिलाडिय़ों और अधिकारियों एवं कर्मचारियों को विभिन्न पुरस्कार तथा प्रेरणा स्त्रोत एवं सम्पूर्ण स्वच्छता पुरस्कार प्रदान किए।

प्रधान सचिव गृह ी पी.सी. धीमान को प्रशासनिक में, राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के परियोजना निदेशक राकेश कवंर और डा. उमेश भारती को अटल स्वास्थ्य सेवा के अन्तर्गत नि:शुल्क एम्बुलैंस सेवा आरम्भ करने के लिए सम्मान दिया गया।

प्रधान सचिव राजस्व डा. दीपक सानन को राजस्व प्रक्रिया के सरलीकरण के लिए, प्रधान सचिव पर्यटन और निदेशक पर्यटन एवं नागरिक उड्यन डा. अरूण शर्मा को पर्यटन प्रोत्साहन योजना ‘हर गांव की कहानी आरम्भ करने के लिए सम्मान प्रदान किया गया।

आयुक्त, आबकारी एवं कराधान जगदीश शर्मा तथा अतिरिक्त आयुक्त आबकारी एवं कराधान एन.सी.बेकटा को राज्य में आबकारी एवं कराधान प्रणाली के सरलीकरण के लिए प्रशासनिक सेवा पुरस्कार प्रदान किए गए।

प्रत्येक अधिकारी को संबंधित विभाग की ओर से प्रशासनिक सेवा में विशिष्ट कार्य के लिए शॉल, हिमाचली टोपी और 2.5 लाख रुपये का नकद पुरस्कार प्रदान किया गया।

धूमल ने अतिरिक्त मुख्य सचिव एस.रॉय और सचिव पर्यावरण एवं प्रदूषण नियंत्रण नगीन नन्दा को राज्य में ए.जी.आई.एस.ए.सी. का शुभारम्भ करने के लिए, राजनीति विज्ञान में सहायक प्राध्यापक डा. दाता राम शर्मा जो कि दृष्टिहीन हैं, को उत्कृष्ट शिक्षा उपलब्धियों के लिए, सामाजिक कार्यकर्ता श्री शांतनु शर्मा और भारतीय रिजर्व बटालियन पण्डोह में सहायक उप-निरीक्षक संजीव कुमार को उत्कृष्ट सेवाओं के लिए प्रेरणा स्त्रोत पुरस्कार से सम्मानित किया। इनमें से प्रत्येक को 51 हजार रुपये के नकद पुरस्कार के साथ हिमाचली शॉल, टोपी और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया।