सांच को नहीं आंच, चाहे करा लो कोई भी जांच : बिंदल

शिमला, 27अप्रैल।
स्वास्थ्य मंत्री राजीव बिंदल ने 108 एम्बुलैंस पर हिलोपा द्वारा लगाए जा रहे आरोपों को सरकार को वदनाम करने की साजिश करार दिया है। डा. बिंदल ने शुक्रवार को शिमला में पत्रकारों को बताया कि यह योजना प्रदेश में सबसे अधिक सफल हुई है। इसलिए राजनैतिक विरोधी सरकार गलत तथ्य पेश कर सरकार को वदनाम करने का प्रयास कर रहे हैं जिसमें विपक्षी पार्टी कांग्रेस का भी पूरा-पूरा हाथ है। बिंदल ने कहा कि 108 एम्बुलैंस योजना को लेकर वे किसी भी जांच का सामना करने को तैयार हैं।
बिंदल ने बताया कि इस योजना के तहत अभी तक एक लाख 32 हजार 272 लोगों ने लाभ उठाया है। जिसमें 26 हजार 938 मामले गर्भवती महिलाओं के हैं। उन्होंने बताया कि हिलोपा नेता सबंधित कप्मनी जीवीके को जमीन देने की बात कर रहे हैं, वह पूरी तरह से झुठ है और धर्मपुर में जो जमीन है वह स्वास्थ्य विभाग की है और आज भी विभाग ने नाम दर्ज है। बिंदल ने कहा कि प्रदेश में 112 एम्बुलैंस है और वे प्रदेश सरकार के नाम दर्ज है। बिंदल ने हिलोपा नेता के आरोपों का जबाव देते हुए कहा कि उन्होंने सौ एम्बुलैंस के तथ्यों के आधार पर गणना की है और वो भी एमओयू के तहत की है। जबकि कम्पनी को सभी भुगतान एक्चुअल खर्चे के आधार पर आदायगी की जा रही है जोकि एमओयू की शर्त है।

बिंदल ने कहा कि हिलोपा नेता महेंद्र नाथ सोफत को सभी तथ्यों की सही जानकारी थी लेकिन सरकार की लोकप्रिय योजना को वदनाम करने के लिए उन्होंने जानवूझ कर गलत जानकारी दी। बिंदल ने बताया जहां तक एम्बुलैंस को प्रदेश से वाहर खरीदने का प्रश्र है। एम्बुलैंस का नम्बंर दर्ज होने के बाद प्रति गाडी 73,800 की छूट मिली है। इसलिए हिलोपा का यह आरोप भी झुठ है कि वाहर से गाडी खरीदने पर प्रदेश केा सेल टेक्स में घाटा हुआ है।