भाजपा ने अनाडेल विवाद को किया खत्म नड्डा –अनाडेल मामले को वेवजह जरूरत से ज्यादा दिया जा रहा तूल

शिमला, 19 अप्रैल।

अनाडेल मैदान पर सेना और राज्य सरकार के बीच विवाद को भाजपा ने शांत करने की पहल की है। प्रदेश भाजपा के विधायकों, मंत्रियों तथा पदाधिकारियों के साथ बैठक करने शिमला आए राष्ट्रीय महासचिव जगत प्रकाश नड्डा और प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू ने पार्टी की तरफ से इस विवाद को समाप्त करने की बात कही है।

पीटरहॉफ में गुरूवार को पत्रकार वार्ता में भाजपा नेताओं ने कहा कि अनाडेल मामले पर अकारण बीजेपी की प्रतिमा मलिन करने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि बीजेपी की तरफ से यह मामला खत्म हो चुका है। यानि अब यह साफ है कि पार्टी ने मुख्यमंत्री पर आरोप लगाने वाले सेना अधिकारी पर कारवाई का जिम्मा सेनाध्यक्ष पर ही छोड़ दिया है।

भाजपा के राष्ट्रीय नेताओं ने कहा कि सेना अधिकारी के पत्र से नाराजगी पैदा होना जायज है, क्योंकि यह आरोप केवल मात्र सरकार तक सीमित नहीं है, इससे प्रदेश के आम आदमी का भी अपमान हुआ है। नेताओं ने इस मामले में मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल का बचाव करते हुए कहा कि सेना के पत्र से सारा बखेड़ा खड़ा हुआ है तथा सीएम ने संवेदनशील मामले पर केंद्र का ध्यान आकर्षित किया। सीएम ने मामले की गंभीरता देखते हुए योग्य शब्दों में प्रतिक्रिया व्यक्त की। उन्होंने कहा कि बीजेपी का सेना का अपमान करने का इरादा नहीं है। बीजेपी देशभक्तोंं की पार्टी है और सेना का सम्मान करना जानती है।

जाजू-नड्डा ने कहा कि अकारण इस मुद्दे को तूल दिया जा रहा। बीजेपी ने इस मसले पर ठीक रोल अदा किया है तथा अब हमारी तरफ से मामला खत्म है। उन्होंने कहा कि इस मामले पर जरूरत से ज्यादा देखने ओर पढऩे की कोशिश हो रही है।

नड्डा ने कहा कि मैदान को सेना से वापसी पर अकेले मुख्यमंत्री धूमल द्वारा लिया गया स्टंैड नहीं है। वर्ष 1982 से लीज समाप्त होने पर सभी सरकारों ने अपने स्तर पर मैदान की वापसी का प्रयास किया।

अनाडेल मैदान की वापसी को लेकर चलाए गए हस्ताक्षर मुहिम से पल्ला झाड़ते हुए नड्डा ने इसे खेल संगठनों व आम लोगों की भावनाओं को लेकर चलाया अभियान बताया। उन्होंने कहा कि सरकार व पार्टी का इस मुहिम से लेना देना नहीं है।