चंबा भरमौर मार्ग भारी वर्षा व भूस्खलनों के कारण बंद

चंबा, 29 अप्रैल।

हिमाचल प्रदेश के कई भागों में प्रतिदिन बारिश हो रही है। इसका असर अब साफ दिखाई देने लगा है। जिला चंबा के में भी कई दिनों से लगातार वर्षा हो रही है जिस कारण चंबा की सडक़ें बंद होती जा रही हैं। चंबा भरमौर मार्ग रात भर वर्षा होने के कारण कई स्थानों से बंद है जिस कारण आज सुबह से चंबा —  खड़ामुख , चंबा होली, चंबा भरमौर, मार्ग पर बसें नहीं चल सकी । हजारों की संख्या में यात्रियों के फंसे होने की आश्ंाका है।

आसमानी बिजली के गिरने के कारण जिला चंबा में अब तक सैंकड़ों भेड़ बकरियों के मरने का समाचार मिला है । आजकल  भेड़ बकरी पालक गर्म स्थानों से ऊंचे पहाड़ों की तरफ चलते हैं वर्षा व बार बार आसमानी बिजली के चमकने के कारण  उन्हें पहाड़ों में बनी कंदराओं में आश्रय लेना पड़ता है। ऐसे में वे आसमानी बिजली के कहर के कारण परेशान रहते हैं।

उधर, राजधानी शिमला में रविवार को भी मौसम साफ नहीं हो सका। दोपहर होते-होते बारिश शुरू हो गई जिससे शीत लहर फिर से आंरभ हो गई। शिमला जिला में पिछले पंद्रह दिनों से बारिश के साथ ओलाबृष्टि हो रही है। जिससे बागवानों को भारी नुकसान होने का अनुमान है। प्रदेश में अभी तक बारिश और ओलाबृष्टि के चलते उद्यान विभाग के अनुसार 150 करोड़ से भी अधिक का नुकसान होने का अनुमान है।

सबसे अधिक नुकसान शिमला, कुल्लू और मण्ड़ी जिला में हुआ है। ओलाबृष्टि से सबसे अधिक सेब की फसल प्रभावित हुई है। कई बागवानों का कहना है कि उनकी 80 फीसदी फसल ओलाबृष्टि की भेंट चढ़ गई है।