एसजेवीएनएल का 7610 मिलियन यूनिट का रिकार्ड बिजली उत्पादन

शिमला, 01 अप्रैल ।

देश के सबसे बड़े 1500 मेगावाट की क्षमता वाले नाथपा झाकड़ी विद्युत जल परियोजना (एसजेवीएनएल) ने बिजली उत्पादन में वर्ष 2011-12 में 7610 मिलियन यूनिट बिजली का उत्पादन करके एक नया इतिहास रचा है।  इस साल का बिजली उत्पादन न केवल गत वर्ष के रिकार्ड 7140 मिलियन यूनिट से 470 मिलियन यूनिट अधिक है, बल्कि भारत सरकार के विद्युत मंत्रालय द्वारा एमओयू में तय लक्ष्य से भी 710 मिलियन यूनिट अधिक है। 

विद्युत मंत्रालय के साथ हाल ही में वर्ष 2012-13 के लिए हस्ताक्षरित समझौता ज्ञापन में सर्वोश्रम मानदण्डों के तहत 7000 मिलियन यूनिट बिजली के उत्पादन का प्रावधान है। 2010-11 में पावर स्टेशन को इसके प्रशंसनीय निश्पादन के लिए विद्युत मंत्रालय ने हाल ही में गोल्ड शील्ड पुरस्कार प्रदान किया है। 

एसजेवीएन के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक आर.पी. सिंह ने बताया कि कर्मचारियों द्वारा उपलब्ध जलराशि के अधिकतम उपयोग तथा मशीनों के कुशल प्रबन्धन के लिए किए गए अनवरत प्रयास हैं। वर्ष के दौरान मशीनों के रखरखाव का समय सामान्य औसतन 10 दिन से घटाकर 8 दिन करके पूरे साल पीक बिजली उत्पादन के लिए मशीनों की उपलब्धता सुनिश्चित की गई।  वर्ष 2003-04 में कमीशन किए गए देश के सबसे बड़े 1500 मेगावाट जल विद्युत स्टेशन ने 20 अक्तूबर,2011 को 50,000 मिलियन यूनिट का संचित विद्युत उत्पादन करके एक बहुत बड़ी उपलब्धि हासिल की थी। 

एसजेवीएनल उतरी ग्रिड के राज्यों हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू एवं कश्मीर, पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड, चंडीगढ़ एवं दिल्ली को बिजली देता है।