एक मयान में नहीं रह सकतीं दो तलवारें— वीरभद्र सिंह

शिमला
जिस तरह एक  मयान में दो तलवारें नहीं रह सकतीं, ठीक उसी तरह कांगे्रस हाईकमान को भी प्रदेश में एक नेता को कमान सौंपनी होगी। तभी विधानसभा चुनावों में कांगे्रस अपना दबदबा कायम कर सकेगी। एचपी यूनिवर्सिटी में सोमवार को आयोजित भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन के स्थापना समारोह में बतौर मु यातिथि शिरकत कर रहे केंद्रीय मंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि वह चुनाव के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा कि जनता को चुनाव से पहले पता होना चाहिए कि उनका मु यमंत्री कौन
होगा।  उन्होंने कहा कि यदि युवा कार्यकर्ता पार्टी के दिग्गज नेताओं को एकजुट देखना चाहते हैं तो यह सही है। साथ ही चुनावों में युवाओं को मौका देना भी सही दिशा में उठाया जाने वाला कदम है।  उनसे मुकाबले के लिए हमारी मेयर ही काफी  नगर निगम चुनाव के लिए पार्टी की तैयारियों के बारे में पूछे सवाल पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भाजपा नेताओं के मुकाबले के लिए हमारी मेयर ही काफी है। पार्टी के दिग्गज नेताओं को इन चुनावों में उतरने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि भले ही मु यमंत्री और भाजपा नेता निगम चुनाव के लिए शहर में उद्घाटन आदि कर प्रचार रहे हैं लेकिन हमारी मेयर भी प्रचार में कोई कसर नहीं छोड़ रही। शहर के गली मोहल्लों में प्रचार के लिए मेयर की काफी है।
यूनिवर्सिटी में कमजोर एनएसयूआई पूर्व मु यमंत्री ने माना कि एचपी यूनिवर्सिटी में एनएसयूआई काफी कमजोर है लेकिन प्रदेश में अभी भी संगठन का सबसे ज्यादा दबदबा है। उन्होंने कहा कि एनएसयूआई पार्टी की नर्सरी है जहां से युवा कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। लोकायुक्त के बारे में पूछे सवाल पर वीरभद्र सिंह ने कहा कि मैंने अभी लोकायुक्त नहीं पढ़ा है। इसको पढऩे के बाद ही अपनी राय कायम करुंगा।