हिमाचल बजट: धूमल ने पेश किया लोकलुभावन बजट

– पीटीए अध्यापकों और छात्रों पर बरसा धन
– मिठाइयां सस्ती, तंबाकू उत्पाद हुए मंहगे, सिग्रेट व तंबाकू उत्पाद पर वैट 16 – से बढक़र 18 और बीड़ी पर 9$६5 से 1१ प्रतिशत हुआ
– विधायक निधि 3 लाख से बढक़र 5 लाख
शिमला।
मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने सोमवार को वर्ष 2१२-१३ के लिए कुल 2२४3$9२ करोड़ का बजट पेश किया। चुनोह्ली ेह्लर्ष होने के कारण शुरू से ही बजट के लोकलुभावन होने का अनुमान लगाया जा रहा था। बजट में धूमल ने प्रदेश के सभी वर्गों को खुश करने का प्रयास किया है। सिग्रेट व तंबाकु उत्पादों को छोड़ दिया जाए तो और किसी भी चीज पर नया टैक्स नहीं लगाया गया है। शिक्षा के क्षेत्र में सरकार ने दसवीं कक्षा में मेरिट में रहने वाले प्रथम 4 छात्रों को मुफ्त आकाश टेवलेट देने की घोषणा की गई है। बजट में धूमल ने भगवान में पूरी आस्था दिखाते हुए मंदिरो में लगने वाली संगमरमर की मुर्तियांंे को भी वैटमुक्त करने का एलान किया है।
चुनावी वर्ष में सरकारी कर्मचारियों का भी पूरा ख्याल रखा गया है। कर्मचारियों को सात फीसदी मंहगाई भत्ता इसी माह के वेतन के साथ और बकाया राशि अप्रैल में देने की घोषणा की गई है। साथ ही पेंशनरों को जुलाई 2१1 से मंहगाई भत्ते का बकाया तथा उनके बचे हुए पूरे वेतन एरियर का अप्रैल 2१२ में नकद भुगतान का प्रावधान किया गया है। पीटीए शिक्षकों के मानदेय पीईटी का 67५, टीजीटी का 69५, सीएण्ड वी और पीजीटी का 7२५ रूपये बढ़ाया गया है।
कर्मचारियोंं व पेंशनरों के चिकित्सा भत्ते को 1 से बढ़ाकर 25 रूपये किया गया है। अंशकालिक जलवाहकों के मानदेय को 13 किया गया है। सिलाई अध्यपाकों का मानदेय 14 से 16 और ग्राम रोजगार सेवकों केा 15 से बढ़ाकर 18 करने की घोषणा की गई है। सामाजिक सुरक्षा पेंशन को 3३ से बढ़ाकर 4 और 8 वर्ष से ऊपर के लाभार्थिआें को 6 रूप्ये प्रति माह किया गया है। पीजी डाक्टरों के बजीफे में भी बढ़ौतरी की गई है।
बजट में हिमाचल में बनने वाले कई उत्पादों पर वैट कम करने का एलान किया गया है। जिनमें दूध से बनने वाली चीजों पर वैट को 13$7५ से 5 प्रतिशत कर दिया है। बजट में मुख्यमंत्री आरोग्य पशुधन योजना के तहत 23 पंचायतों में नए पशु औषधालय खोलने का प्रावधान किया गया है।
विधायकों की क्षेत्रीय विकास निधि 3 लाख से बढाकर 5 लाख किया गया है। जिसे संबंधित विधानसभा क्षेत्र में खर्च करने के सीमित दायरे से बढ़ाकर जिले में कहीं भी खर्च करने का प्रावधान किया गया है। पंचायती राज की तीनों संस्थाआें जिला परिषद, ब्लाक समिति और पंचायत स्तर के सभी सदस्यों के मानदेय में बढ़ौतरी की गई है। इसी तरह नगर पंचायतों व नगर निगमों के सदस्यों के मानदेय में भी इजाफा किया गया है।
इसके साथ अटल आदर्श ग्राम पंचायत पुरस्कार योजना आरंभ करने की घोषणा की गई है। जिसके तहत सर्वश्रेष्ठ पंचायत को ब्लाक स्तर पर 2 लाख, जिला स्तर पर 5 लाख, मंडल स्तर पर 1 लाख व राज्य स्तर पर 2 लाख पुरस्कार दिया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने बजट पेश करते हुए घोषणाएं की है कि प्रत्येक पंचायत तथा शहरी निकाय में 5 हजार की लागत से एक व्यायामशाला स्थापित की जाएगी, जिसमें विधायक भी अपने विधायक निधी से पैसा दे सकेंगे। विपक्ष की नेता विद्या स्टोक्स ने बजट को लोकलुभावन बताया है और कहा कि बजट में कुछ भी नया नहीं है।