सांसद की जमीन की पैमाइश

 कांगड़ा-चंबा संसदीय क्षेत्र के सांसद डा. राजन सुशांत पर पार्टी की कार्रवाई के बाद राजस्व विभाग ने सरकारी भूमि पर अवैध कब्जे को लेकर सोमवार को उनके देहरी स्थित आवास के साथ लगती भूमि की पैमाइश की। इस दौरान सांसद घर पर नहीं थे, वह संसद के बजट सत्र में भाग लेने हेतु दिल्ली गए थे। सोमवार को तहसीलदार नूरपुर कविता ठाकुर के नेतृत्व में नायब तहसीलदार सुभाष चौहान, कानूनगो जगत राम, लाल चंद, पटवारी संजीव व विभागीय कर्मियों ने पटवार सर्किल वंडी के तहत पड़ते मौजा खेहर स्थित सांसद के आवास के साथ लगते खसरा नंबर 611/1, 612/1 व 613/1 की पैमाइश की। विभागीय जानकारी के मुताबिक एक व्यक्ति ने कुछ माह पहले विभाग में शिकायत कर सांसद पर सरकारी भूमि पर अवैध कब्जा करने का आरोप लगाया था और इस बारे में विभाग ने सांसद को सूचना भेजकर निशानदेही के बारे में सूचित किया था, परंतु सोमवार को सांसद के घर में न होने के बावजूद विभागीय अधिकारियों व फील्ड स्टाफ ने सांसद के घर के साथ लगती जमीन की पैमाइश की। इस मौके पर तहसीलदार नूरपुर कविता ठाकुर ने बताया कि सांसद के मकान के साथ लगती करीब चार कनाल सरकारी जमीन पर कब्जा पाया गया है। इस कार्रवाई को लेकर जब फोन पर डा. राजन सुशांत से बात की गई तो उन्होंने कहा कि ये मुख्यमंत्री के दबाव के चलते उनकी छवि खराब करने हेतु राजस्व विभाग के अधिकारियों द्वारा यह कार्रवाई करवाई गई है और यह कार्रवाई ऐसे समय में की गई, जब मैं संसद बजट सत्र में भाग लेने हेतु दिल्ली गया हूं। उन्होंने कहा कि वह राजस्व कानूनों से भलीभांति परिचित हैं और नियमों के मुताबिक निशानदेही करने से पहले भूमि के मालिक व शिकायतकर्ता दोनों का होना जरूरी है।