बहादुरगढ़ में तीन युवकों की निर्मम हत्या

रोहतक।
बहादुरगढ़ के गांव मांडोठी में सोमवार को तीन युवकों की हत्या कर दी गई। मरने वालों में दो चचेरे भाई व एक फूफेरा भाई है। तीनों को तेजधार हथियारों से काटा डाला गया। गांव में दहशत एवं तनावपूर्ण माहौल है। पुलिस ने गांव में भारी पुलिस बल तैनात किया है।
रोहतक रेंज के आईजी आलोक मित्तल समेत पुलिस विभाग के आला अधिकारियों ने गांव का दौरा कर हालात का जायजा लिया। 15 वर्षीय नरेंद्र पुत्र गंगाराम, 2० वर्षीय सोनू पुत्र रणबीर तथा दिल्ली के गांव गोयला कलां निवासी 12 वर्षीय मंजीत पुत्र जयप्रकाश हैं।
बीती रात तीनों युवक मांडौठी स्थित मकान के बाहर प्लाट में सो रहे थे। देर रात करीब डेढ़ बजे अज्ञात हमलावरोंं ने प्लॉट में घुसकर युवकों पर तेजधार हथियारों से ताबड़तोड़ हमला बोल दिया। शोर सुनकर सोनू के पिता रणबीर की नींद खुली तो उसने एक अज्ञात युवक को दिवार फांदकर भागते हुए देखा था। रणबीर युवकों की ओर गया तो उनके क्षत विक्षत शरीर देखकर हैरान हो गया। तीनों को पीजीआई रोहतक में लाया गया। बताते हैं नरेंद्र व मंजीत की रास्ते में ही मौत हो गई जबकि सोनू ने पीजीआई में आकर दम तोड़ा।
आईजी आलोक मित्त्तल नले बताया कि पुलिस की चार टीमों का गठन हमलावरों का पता लगाने व उन्हें पकडऩे के लिए गठन किया गया है। एसपी झज्जर पतराम सिंह ने बताया कि हमलावरों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।