फिक्सिंग के आरोपी खिलाडिय़ों की कमेंट्री दिखाने पर जुर्माना

चंडीगढ़।
पंजाब ेह्ल हरियाणा हाईकोर्ट ने मैच फिक्सिंग के आरोपी दागी क्रिकेटर को एक्सपर्ट कमेंटेटर के तौर पर टीवी पर दिखाए जाने पर 1० हजार रुपये जुर्माना लगाया। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई व जस्टिस महेश ग्रोवर की खंडपीठ ने जुर्माना लगाते हुए कहा कि मामले में अदालत के हस्तक्षेप की आवश्यकता नहीं है।
गुडगांव निवासी कुलदीप सिंह की तरफ से वकील राकेश कुमार ने जनहित याचिका दायर कर कहा कि मैच फिक्सिंग जैसे गंभीर आरोपों के चलते टीम से बाहर कर दिए गए खिलाड़ी देश के राष्ट्रीय चैनल दूरदर्शन पर बतौर एक्सपर्ट कमेंटेटर अपना पक्ष रख रहे हैं।
याचिका में कहा गया कि यह क्रिकेट प्रेमियों की भावनाओं से खिलवाड़ है। याचिका में क्रिकेटर नयन मोंगिया, अजय जडेजा व मनोज प्रभाकर के नाम देकर कहा गया कि इन खिलाडिय़ों पर मैच फिक्सिंग के आरोप लगे हैं। ऐसे में इन्हें टीवी पर उसी खेल के एक्सपर्ट कमेंटेटर के तौर पर पेश नहीं किया जाना चाहिए। याचिका पर प्राथमिक सुनवाई के बाद चीफ जस्टिस की खंडपीठ ने 1० हजार रुपये जुर्माना लगाकर याचिका खारिज कर दी।